मुख्यमंत्री ने पेश किया शुरुआती 100 दिनों का रिपोर्ट कार्ड : कहा, लक्ष्य से ज्यादा काम किया

punjabkesari.in Monday, Jul 04, 2022 - 02:51 PM (IST)

लखनऊ, चार जुलाई (भाषा) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने दूसरे कार्यकाल के शुरुआती 100 दिनों में किए गए कार्यों का ''रिपोर्ट कार्ड'' पेश किया।
मुख्यमंत्री ने अपने दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी इस शुरुआती कार्य अवधि का ब्योरा पेश करते हुए कहा कि ये शुरुआती 100 दिन सेवा, सुरक्षा और सुशासन के प्रति समर्पित रहे। उन्होंने कहा कि सरकार ने ''जो कहा सो किया'' के इस परंपरागत अभियान को आगे बढ़ाते हुए निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा काम किया है।
आदित्यनाथ ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश की जनता ने हमें जो दूसरा कार्यकाल दिया है उसमें हम एक नई उड़ान के साथ अपनी यात्रा को आगे बढ़ा रहे हैं। हमारे मंत्रिमंडल ने सबसे पहला कार्य ऐसे 10 सेक्टर चुनने का किया, जिन पर हम व्यवस्थित कार्ययोजना बनाकर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाने की कार्य योजना को आगे बढ़ा सकते हैं।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि इन 100 दिनों में प्रदेश में ''ई-विधान'' लागू किया गया। पेंशन प्राप्त करने वाले सरकारी कर्मचारियों के लिए ई-पेंशन की सुविधा लागू की गई। अपराध और अपराधियों के विरुद्ध ''जीरो टॉलरेंस'' की नीति के तहत कठोरतम कार्रवाई की गई। इस अवधि में अपराधियों द्वारा अवैध रूप से अर्जित 844 करोड़ रुपये की संपत्ति को जब्त या ध्वस्त किया गया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने पिछले 100 दिनों के कार्यकाल में 12537 करोड़ रुपये का बकाया गन्ना मूल्य भुगतान किया है, इतना ही नहीं, छह लाख 15 हजार करोड़ रुपये से अधिक का अब तक का सबसे बड़ा सर्व समावेशी बजट पेश किया।
आदित्यनाथ ने दावा किया कि अपने दूसरे कार्यकाल के शुरुआती 100 दिनों में उनकी सरकार ने प्रदेश में 10,000 से अधिक सरकारी नौकरियां दी हैं। उन्होंने कहा कि साथ ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में पदक प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों को सीधी भर्ती के माध्यम से राजपत्रित पदों पर नियुक्त करने की व्यवस्था पर भी इन 100 दिनों में सरकार ने अपना अनुमोदन दिया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 100 दिनों के दौरान स्वरोजगार के लिए ऋण मेलों के माध्यम से एक लाख 90 हजार उद्यमों को प्रदेश के अंदर हमने 16 हजार करोड़ रुपये का कर्ज वितरित किया गया। उन्होंने कहा कि इसके अलावा 11 लाख लोगों को ग्रामीण आवासीय अभिलेख यानी घरौनी वितरित की गई है।
उन्होंने कहा, ‘‘पिछले 100 दिनों के कार्यकाल में सरकार ने प्रदेश के राजस्व में अपेक्षित वृद्धि हासिल की है। इसकी वजह से प्रदेश को एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य अगले पांच वर्षो में हासिल करने के आसार ''प्रबलतम'' हो गए हैं। राज्य में बेरोजगारी की दर वर्ष 2017 के 17.5 फीसद से घटकर अब 2.9 प्रतिशत रह गई है।’’ आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले 100 दिनों के दौरान ग्राउंडब्रेकिंग सेरेमनी-तृतीय के तहत 80,224 करोड़ से अधिक की परियोजनाओं की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कराई गई। उन्होंने कहा, ‘‘इसके अलावा बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का कार्य पूरा किया गया। वहीं, देश की सबसे बड़ी एक्सप्रेस-वे परियोजना यानी गंगा एक्सप्रेस-वे का काम शुरू हो गया है। साथ ही एक्सप्रेस-वे के किनारे इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के लिए ग्रीन फील्ड नीति तय की गई।’’ उन्होंने कहा कि इस दौरान धार्मिक स्थलों पर स्थापित ध्वनि प्रदूषक 74385 लाउडस्पीकर को बिना किसी प्रतिरोध के हटवाया गया और इससे समाज में एक सकारात्मक संदेश गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार के विभिन्न विभागों ने दूसरी पारी के शुरुआती 100 दिनों के लिए जो लक्ष्य निर्धारित किए थे उनसे ज्यादा काम किया है। उन्होंने यह उम्मीद व्यक्त की कि छह महीने, एक वर्ष, दो वर्ष और पांच वर्ष के लिए तय कार्य योजना को भी सफलतापूर्वक आगे बढ़ाने में सफलता हासिल होगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल में रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव तथा विधान परिषद चुनाव में भाजपा को मिली जीत प्रदेश सरकार की नीतियों और कार्यों के प्रति जनता के अपूर्व समर्थन और विश्वास के प्रत्यक्ष प्रमाण है। विधान परिषद चुनाव के नतीजे घोषित होने पर 87 वर्ष बाद उत्तर प्रदेश विधानमंडल का उच्च सदन पहली बार ''कांग्रेस मुक्त'' हो गया है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News

static