दलित वोट को साधने में जुटी कांग्रेस: संत रविदास जयंती पर सीरगोवर्धन आएंगे राहुल और प्रियंका, पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी का भी आना तय

punjabkesari.in Tuesday, Feb 15, 2022 - 09:23 PM (IST)

वाराणसी: उत्तर प्रदेश और पंजाब विधान सभा चुनाव में कांग्रेस जी जान से दलित वोटों को साधने की कोशिश में जुटी है। दरअसल संत रविदास की जन्म स्थली वाराणसी में 16 फरवरी को पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और राहुल गांधी, कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी वाराणसी आ रहे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री का यह पहला दौरा होगा।

बात दें कि इसके पहले पंजाब में अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू की आपसी लड़ाई में चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का सीएम बनाया गया। खुद एक दलित समुदाय से आने वाले चन्नी के ऊपर कांग्रेस ने पंजाब चुनाव में जीत दिलाने की बड़ी जिम्मेदारी दी है। पंजाब में सरकार बनाने में दलितों की बड़ी भूमिका रहती है। खास कर दोआबा के क्षेत्र में। पंजाब के दलितों में संत रविदास के प्रति गहरी आस्था है और देश-दुनिया में फैले रैदासियों का जमावड़ा रविदास जयंती पर काशी में आता है।  

पंजाब की सियासत में संत रविदास को मानने वाले श्रद्धालुओं की इस मंदिर में गहरी आस्था है। पंजाब-हरियाणा और पश्चिमी यूपी की सियासत में संदेश देने के लिए यहां राजनेताओं का जमावड़ा लगा रहता है। हर बार की तरह इस बार भी मंदिर प्रबंधन ने तमाम राजनेताओं को रविदास जयंती पर आने का आमंत्रण दिया है। यूपी चुनाव के साथ-साथ पंजाब में भी चुनाव है। ऐसे में पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी 16 फरवरी को वाराणसी आ रहे हैं।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static