वेब सीरीज को लेकर साधु-संतों ने दी चेतावनी, कहा- सुधर जाइए वरना हमारा ‘तांडव’ बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे

1/18/2021 6:01:01 PM

अयोध्याः अली अब्बास जफर के निर्देशन में फिल्माई गयी वेब सीरीज तांडव पर अब विवाद गहराता जा रहा है। वेब सीरीज को लेकर एक तरफ जहां लखनऊ में एफआईआर दर्ज करायी गयी है तो वहीं दूसरी ओर अयोध्या के साधु-संतों ने भी इसका विरोध किया है। साधु-संतों का कहना है कि वेब सीरीज में जिस तरह से हिन्दू देवी-देवताओं का अपमान किया गया है। वह किसी भी तरीके से सही नहीं है। साधु-संतों ने मांग की है इस तरह की फिल्म पर तुरंत बैन लगाकर उचित कार्रवाई करनी चाहिये।

सनातन धर्म संस्कृति का मजाक उड़ाना दुर्भाग्यपूर्णः राजूदास
इस बाबत अयोध्या हनुमानगढ़ी के महंत राजूदास ने कहा कि तांडव मूवी में जिस प्रकार से सनातन धर्म संस्कृति का मजाक उड़ाया जा रहा है वह बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि सनातन धर्म संस्कृति से छेड़छाड़ करने वाली मूवी पर बैन प्रतिबंध लगना चाहिए और फिल्म बनाने वालों के खिलाफ की सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिये। उन्होंने चेतावनी देते हुये कहा कि यदि सनातन धर्म संस्कृति के खिलवाड़ करने वाले लोग सुधर जाए वरना जिस तरह से आपने तांडव बनाया है वैसे ही हम सब तांडव करेंगे तो अच्छा नहीं होगा।

दंड के भागीदार हैं तांडव के निर्माता व निर्देशकः सतेंद्र दास
रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सतेंद्र दास ने कहा कि जिस प्रकार से तांडव बनाया गया है वह बहुत दुखद है और इस प्रकार से हमारे देवी देवताओं का अपमान करना दुर्भाग्यपूण भी है। उन्होंने कहा कि भगवान हमारे पूजनीय हैं और उन पर किसी रूप से हास्यास्पद पिक्चर नहीं बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस तरह की फिल्म जिन्होंने भी बनाया है वह निश्चित तौर पर दंड के भागीदार है। उन्होंने फिल्म पर बैन लगाये जाने की मांग करते हुये उचित कार्रवाई करने की मांग की है।

तांडव पर बैन लगाकर हो उचित कार्रवाईः संत परमहंस दास
इस मामले को लेकर तपस्वी छावनी के संत परमहंस दास ने कहा कि तांडव नाम की वेब सीरीज में हिन्दू देवी देवताओं का अपमान दिखाया गया है उस पर बैन लगाना चाहिये और उचित कार्रवाई भी होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि किसी को भी किसी भी धर्म-संस्कृति के साथ छेड़छाड़ करने का अधिकार नहीं हैं लेकिन जिन्होंने भी ऐसा किया है उनके खिलाफ कार्रवाई हो।

 


Moulshree Tripathi

Related News