जब लखनऊ के किसान ने PM मोदी से कहा- अरे साहब यह मेरा ब्रांडेड केला है, एक बार मौका दीजिए...

punjabkesari.in Saturday, Jan 01, 2022 - 03:44 PM (IST)

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की किसानों के साथ वर्चुअल बातचीत में एक हल्का फुल्का क्षण देखा गया, जब लखनऊ में एफपीओ के सदस्य एक किसान ने अपनी खेतों में ऊपजे केले पेश करने के लिए उनसे मिलने का समय मांगा। बातचीत के दौरान मेज पर रखे कृषि उत्पादों की ओर इशारा करते हुए मोदी ने पूछा, "आपने यहां इतने उत्पाद रखे हैं, क्या ये सभी छोटे किसानों द्वारा उगाए गए हैं?" इसपर कृषक उत्पादक संगठन (एफपीओ) के सदस्य धर्मचंद ने कहा कि सभी चीजें छोटे किसानों के खेतों की उपज हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केले का आकार काफी बड़ा लगता है। इसपर धर्मचंद ने कहा, ''अरे साहब यह मेरा ब्रांडेड केला है, ‘नवीन केला'। एक बार मौका दीजिए, आप हमको बुलाईये तो हम लेकर आयें, आप खाइए, देखिए कितना मजा है।'' इसपर प्रधानमंत्री सहित अन्य लोग अपनी हंसी नहीं रोक सके। मोदी ने कहा, ‘‘आपके विचार का आभारी हूं।'' मोदी ने तब कहा, "मेरे देश के छोटे-छोटे किसानों का जो आत्मविश्वास हैं और आप जिस आत्मविश्वास से आप सबको बता रहे हैं, देश भर के किसान आपकी बात सुन रहे हैं, सभी को प्रेरणा और उत्साह मिलेगा। आपने किसानों की मेहनत को ताकत दी है, मुझे पूरा विश्वास है कि आपका यह एफपीओ खूब फूलेगा-फलेगा। आपके पड़ोस में और एफएपीओ बनेंगे और एफपीओ द्वारा छोटे किसानों को बढ़ाने का जो मेरा लक्ष्य है उसमें आप जैसे साथी बहुत बड़ी ताकत हैं। मैं आपको और आपके साथ जुड़े सभी किसानों को नमस्कार करता हूं।'' इससे पहले किसान धर्मचंद ने कहा, "हम किसानों को अधिक उपज देने वाली किस्म के बीज उपलब्ध कराते हैं। हम उन्हें जैविक खेती करने के लिए प्रेरित भी करते हैं और फूलों की खेती भी करते हैं।"

प्रधानमंत्री द्वारा फूलों के बाजार के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘स्थानीय 'फूल मंडी' (फूल बाजार) में बेचा जाता है।'' प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को 10.09 करोड़ किसानों को पीएम-किसान योजना के तहत 20,900 करोड़ रुपये की 10वीं किस्त जारी की। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत पात्र किसानों को एक साल में 6,000 रुपये की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जाती है। वर्चुअल कार्यक्रम में मोदी ने 351 कृषक उत्पादक संगठनों (एफपीओ) को 14 करोड़ रुपये से अधिक का इक्विटी अनुदान भी जारी किया। इससे 1.24 लाख किसानों को फायदा होगा। इस कार्यक्रम में नौ राज्यों के मुख्यमंत्री, विभिन्न राज्यों के मंत्री और कृषि संस्थानों के प्रतिनिधि भी वर्चुअल तरीके से शामिल हुए। इस मौके पर केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि नए साल (2022) के पहले दिन 10.09 करोड़ लाभार्थियों के खातों में 20,900 करोड़ रुपये की राशि अंतरित की गई है।

उन्होंने कहा कि पीएम-किसान कार्यक्रम सरकार के किसानों की आमदनी को दोगुना करने के प्रयासों में मदद करने के लिए शुरू किया गया है। इससे पहले पीएम-किसान की नौवीं किस्त अगस्त, 2021 में जारी की गई थी। आज जारी राशि के बाद अबतक इस योजना के तहत किसानों को 1.8 लाख करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं। पीएम-किसान योजना की घोषणा फरवरी, 2019 के बजट में की गई थी। इसके तहत पहली किस्त दिसंबर, 2018 से मार्च, 2019 की अवधि के लिए जारी की गई थी।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static