चाचा-भतीजे के बीच फिर ठनी ? शिवपाल दिल्ली रवाना, सपा के सहयोगी दलों की बैठक में शामिल होने पर संशय

punjabkesari.in Monday, Mar 28, 2022 - 10:17 AM (IST)

इटावा: समाजवादी पार्टी (सपा) विधायक दल की बैठक में आमंत्रण न मिलने से खफा प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव सोमवार को होने वाली सपा के सहयोगी दलों के विधायकों की बैठक की परवाह किये बगैर रविवार को इटावा से नई दिल्ली के लिये रवाना हो गये हैं।  यादव शनिवार शाम लखनऊ से इटावा अपने चौगुर्जी आवास पहुंचे हुए थे। उनके इटावा पहुंचने की सूचना पर बड़ी संख्या में उनके समर्थक भी पहुंच गये थे लेकिन शिवपाल ने किसी से भी मुलाकात नहीं की थी। इससे पहले उन्होंने लखनऊ में सपा विधायकों की बैठक में ना बुलाये जाने पर नाखुशी जाहिर करते हुये कहा था कि वो इटावा जा रहे है जहां अपने परचितो के बीच राय शुमारी करके कोई निर्णय करेंगे।

शिवपाल के करीबी सूत्रों ने बताया कि दिल्ली में शिवपाल अपने बड़े भाई और सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के समक्ष अपना दर्द बयान कर सकते हैं। शिवपाल के दिल्ली जाने को लेकर 28 मार्च को लखनऊ में सपा गठबंधन के विधायको की प्रस्तावित बैठक में भी शामिल होने को लेकर संशय बन गया है क्योंकि 28 मार्च को पूवाहर्न 11 बजे से सपा कार्यालय पर बैठक होना तय है। शिवपाल अपनी परंपरागत सीट जसवंतनगर विधानसभा से सपा के चुनाव चिन्ह ‘साइकिल' पर चुनाव मैदान में उतरे थे लेकिन जब विधानसभा चुनाव के नतीजे सपा गठबंधन के पक्ष में नहीं आए तो शिवपाल सीधे तौर पर अखिलेश पर निशाना साधने लगे।

26 मार्च को सपा मुख्यालय में हुई पार्टी विधायक दल की बैठक में शिवपाल को आमंत्रित नहीं किया गया तो नाराज शिवपाल ने पत्रकारों से कहा कि वह अब अपने गृह जिले इटावा जा रहे हैं जहां अपने लोगों के बीच बैठकर के निर्णय करेंगे और उसके बाद कोई सही ऐलान किया जाएगा। अब सवाल यह खडा होता है कि 26 मार्च को सपा प्रमुख अखिलेश यादव नेता विरोधी दल की भूमिका मे भी आ चुके है, ऐसे मे शिवपाल की अखिलेश से तल्खी किस दिशा में सपा गठबंधन को ले जायेगी यह दिलचस्पी हर किसी की भी बनी हुई दिखाई दे रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static