BSP विधानमंडल दल के उप नेता उमाशंकर सिंह का बड़ा बयान,कहा-बगावती विधायकों की हैसियत 'कूड़े' जैसी

6/15/2021 6:47:18 PM

लखनऊ: बसपा से निलंबित विधायकों के सपा प्रमुख अखिलेश यादव से मुलकात पर बसपा  विधानमंडल दल के उप नेता उमाशंकर सिंह ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा मुलाकात करने वाले दल के बगावती विधायक की हैसियत 'कूड़े' जैसी है । उन्होंने कहा कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात करने वालों में असलम राएनी विधानसभा में हनुमान चालीसा पढ़कर भाजपा सरकार का गुणगान करते हैं, तो दूसरी तरफ भाजपा की मुखालफत करने वाले अखिलेश यादव इनसे मुलाकात करते हैं तथा इन्हें सपा में शामिल करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का दोहरा चरित्र उजागर हो जा रहा है । बागी विधायकों के विरुद्ध कार्रवाई के बारे में उन्होंने बताया कि बसपा ने इन्हें पहले ही निलंबित कर दिया है ।

उन्होंने कहा बसपा अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं करती, बसपा अपना ऊर्जा नष्ट नहीं कर सकती । बसपा की तैयारी विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने की है । सिंह ने कहा कि इतिहास साक्षी है कि जो भी बसपा से गया, उसका राजनैतिक वजूद समाप्त हो गया । बसपा से बगावत करने वाले विधायकों को आम जनता सबक सिखाएगी।

बता दें कि अक्टूबर 2020 में, बसपा के सात विधायकों को पार्टी अध्यक्ष मायावती ने निलंबित कर दिया था। उन पर राज्यसभा चुनाव में पार्टी के आधिकारिक उम्मीदवार रामजी गौतम के नामांकन का विरोध करने का आरोप लगा था। निलंबित किये जाने वाले विधायकों में चौधरी असलम अलीर, हरगोविंद भार्गव, मोहम्मद मुस्तफा सिद्दीकी, हाकिमलाल बिंद, मोहम्मद असलम राएनी, सुषमा पटेल और वंदना सिंह शामिल थीं ।  बसपा के कुछ निलंबित विधायकों ने आज पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव से मुलाकात की ।  बसपा प्रमुख ने पार्टी के विधानसभा में नेता लालजी वर्मा और अकबरपुर के विधायक राम अचल राजभर को पार्टी से निकाल दिया था । इन दोनों नेताओं पर पंचायत चुनावों में पार्टी विरोधी गतिविधयों में शामिल होने के आरोप लगे थे। दोनों नेताओं ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था ।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Recommended News

static