गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों का जत्था घर वापसी के लिए हुआ रवाना, किसानों के चेहरे पर दिखी खुशी

punjabkesari.in Saturday, Dec 11, 2021 - 02:31 PM (IST)

गाजीपुर: कृषि कानून की वापसी की मांग पूरी होने के बाद दिल्ली से सटे गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों की वापसी का सिलसिला शुरू हो चुका है। जिसके तहत आज पहला जत्था बिजनौर के लिए रवाना हो चुका है। बिजनौर के किसानों की रवानगी के बाद अब तराई क्षेत्र के किसान घर वापसी करेंगे। वहीं 15 दिसम्बर को किसान नेता राकेश टिकैत के साथ आखिरी जत्था मुजफ्फरनगर के लिए रवाना होगा। आज से दिल्ली आवागमन के लिए एक सड़क खाली कर दी जाएगी जबकि 15 दिसम्बर तक बॉर्डर पूरी तरह से खाली हो जाएगा।

PunjabKesari

 बता दें कि  तीन कृषि कानून की वापसी की मांग को लेकर बड़ी संख्या में किसान करीब 13 महीने 5 दिन से लगातार बीच सड़क पर बैठकर ही आंदोलन कर रहे थे।  इस दौरान जिन लोगों का दिल्ली आना जाना रहता है। उन लोगों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।लेकिन अब कृषि कानून वापस होने के बाद किसानों ने घर वापसी शुरू कर दी है। घर वापसी कर रहे किसानों का कहना है। कि उनके अंदर एक तरफ बेहद खुशी है। वहीं दूसरी तरफ बहुत से ऐसे साथी हैं जो 1 साल से साथ में रह रहे हैं।  कुछ लोगों ने बताया कि अब सब अपने अपने घर वापस जा रहे हैं। तो आपस में भी छोड़ने का कहीं ना कहीं दर्द भी है।

PunjabKesari

गौरतलब है कि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने कृषि कानून की वापसी का ऐलान किया। उसके बाद से किसानों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। किसान नेताओं की मांग सरकार से कुछ अन्य मांग थी जिसे सरकार ने बिना शर्त ही मान ली। सरकार ने बड़ा ऐलान करते हुए किसानों पर पराली जलाने के दौरान दर्ज हुए मुकदमे की वापसी, एमएसपी पर कानून बनाने का वादा किया है। आंदोलन कर रहे किसान अब अपने घर को रवाना हो रहे है। साथ ही दिल्ली के सभी बॉर्डर को खाली कर दिया है।  किसानों ने बॉर्डर पर मिठाइयां बांटकर खुशी जाहिर की। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static