जिस मशीन को योगी सरकार ने 23 लाख में खरीदा वही केजरीवाल ने 38 लाख में क्यों?, इस धांधली का जनता को दें जवाब

punjabkesari.in Tuesday, Jul 06, 2021 - 05:24 PM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने आरोप लगाया है कि दिल्ली सरकार ने उत्तर प्रदेश से करीब साढ़े तीन गुना से अधिक दाम में मेडिकल मशीनें खरीदी हैं। मशीनों की खरीद में यह अंतर दर्शाता है कि दिल्ली सरकार ने कोरोना काल में जनता के पैसे का दुरुपयोग किया और पैसों की खुली लूट की। उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को घेरते हुए कहा कि उन्हें जनता को बताना चाहिए कि आखिर जिस मशीन को यूपी ने साढ़े 23 लाख में खरीदा है, वही मशीन दिल्ली सरकार ने 38 लाख में क्यों खरीदी है।      

 खन्ना ने कहा कि मल्टीपैरा मॉनिटर 5 पैरा यूपी सरकार ने 95,200 रुपए में खरीदी है जबकि दिल्ली सरकार ने तीन लाख 28 हजार और सात लाख पांच हजार रुपए में खरीदी है। ऐसे ही ईको कलर डॉप्लर मशीन फिलिप्स एफिनिटी 30 की यूपी सरकार ने 23 लाख 52 हजार में खरीदी है जबकि यही मशीन दिल्ली सरकार ने 38 लाख और फिलिप्स एफिनिटी 70 मशीन 63 लाख रुपए में खरीदी है। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार ने निर्धारित मानकों पर पूरी पारदर्शिता के साथ उच्च गुणवत्ता वाली मशीनें खरीदी हैं, लेकिन आप के एक राज्यसभा सांसद सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए यूपी सरकार पर मनगढ़ंत आरोप लगा रहे हैं। सबसे पहले उन्हें दिल्ली सरकार में मशीनों की खरीद में हुई धांधलेबाजी पर जनता को जवाब देना चाहिए। साथ ही यूपी में लोगों को झूठे आरोपों से गुमराह करने से बाज आना चाहिए। दिल्ली सरकार ने कोरोना काल में आपदा को अवसर में बदल दिया है।

खन्ना ने कहा कि कोरोना काल में अधिक से अधिक चिकित्सा सुविधाएं देने के लिए यूपी सरकार युद्ध स्तर पर कार्य कर रही है, संभावित तीसरी लहर को देखते हुए हरसंभव तैयारी पहले से ही की जा रही है, लेकिन कुछ लोग आपदा काल में भी लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे हैं और वह तैयारियों में बाधा उत्पन्न करने की नीयत से आरोपों की राजनीति कर रहे हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static