प्रयागराज में नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, पड़ोसी जिलों को भी की जाएगी आपूर्ति : सिद्धार्थ नाथ

5/15/2021 10:36:45 AM

प्रयागराजः  उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि प्रयागराज में ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी और ना ही ऑक्सीजन की कमी से किसी की जान जाएगी। जिले के उपायुक्त (उद्योग) और खादी व ग्रामोद्योग अधिकारियों के साथ बैठक के बाद मंत्री ने कहा कि जब कोविड महामारी इस जिले में चरम पर थी, प्रयागराज को प्रतिदिन 3000 सिलेंडर की आवश्यकता पड़ रही थी, जिसमें 1700 सिलेंडर बाहर से आ रहे थे। उन्होंने कहा कि इस महामारी में एमएसएमई विभाग ने ऑक्सीजन की व्यवस्था प्रयागराज में सुव्यवस्थित कर दी है। बीपीसीएल नैनी इकाई पिछले आठ वर्षों से बंद पड़ी थी जिसमें उत्तर प्रदेश सरकार ने ऑक्सीजन सिलेंडर इकाई को पुनः चालू कराया है। इस इकाई के पास लगभग 3000 अर्द्ध निर्मित सिलेंडर और 5000 सिलेंडर निर्माण हेतु कच्चा माल उपलब्ध है।

उन्होंने कहा कि इस महामारी के कठिन दौर में इकाई द्वारा लगभग 8000 सिलेंडर का निर्माण किया जा सकेगा। सिंह ने कहा कि प्रयागराज के मेडिकल कॉलेज, बेली, काल्विन और डफरिन अस्पतालों में पाइप के जरिए ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रयागराज में खपत के बाद शेष ऑक्सीजन की आपूर्ति पड़ोस के जिलों- प्रतापगढ़, कौशांबी आदि में की जाएगी। मंत्री ने बताया कि आईसीआईसीआई फाउंडेशन द्वारा सीएसआर मद से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, शंकरगढ़ में 25 बेड का ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किया जाएगा। इसके अलावा गन्ना विभाग द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उरुवा में 50 बेड तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोटवा में 90 बेड के लिए ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र की स्थापना की जाएगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Recommended News

static