यूपीः 13 साल बाद जिंदा मिला मृत व्यक्ति और हत्या की जुर्म में जेल की सजा काट रहे 4 निर्दोष

3/3/2021 9:48:04 PM

भदोहीः न्याय का कॉसेप्ट ही इसीलिए है ताकि कोई भी मुजरिम बच न सके और किसी भी निरपराधी को सजा न हो सके। मगर ताजा मामला उत्तर प्रदेश भदोही का है। यहां एक व्यक्ति की हत्या के आरोप में चार लोगों को कोर्ट ने पांच साल की सजा सुनाकर जेल भेज दिया था। वहीं मृत व्यक्ति जिंदा मिला।

बता दें कि मामला गोपीगंज थाना क्षेत्र के चकनिरंजन गांव का है। जहां सगे भाईयों समेत चार लोगों को अपहरण के मामले में वर्ष 2009 में पांच साल की सजा हुई थी। चार वर्षों तक जेल में रहने के बाद हाईकोर्ट से सभी को जमानत मिली। इस बीच, बुधवार की भोर में 13 साल से गायब अधेड़ घर पर पाया गया। पुलिस ने उसे हिरासत में लिया है। मामले वास्तव में अचंभित करने वाला है जिसकी हत्या के आरोप में चार लोग पांच साल तक जेल में रहे वह व्यक्ति 13 साल बाद जिंदा मिला है। वहीं सच का पता चलते ही अपहरण व हत्या के झूठे मामले में सजा काट रहे चारों के परिजनों ने राहत की सांस ली है।

ये है मामला
गोपीगंज थाना क्षेत्र के चकनिरंजन गांव निवासी बेचन तिवारी ने 2008 में तहरीर देकर छोटे भाई जोखन तिवारी का अपहरण कर हत्या के बाद शव गायब करने का आरोप पड़ोसी काशीनाथ, दयाशंकर तिवारी और उनके साले बंशनाथ व छोटन पर लगाया था। पुलिस ने चारों के खिलाफ केस दर्ज कर जेल भेज दिया था।

चारों के खिलाफ चार्जशीट भी दायर कर दी गई। वर्ष 2009 में जिला न्यायालय ने चारों आरोपितों को पांच वर्ष की सजा सुनाई। करीब तीन साल जेल में रहने के बाद चारों को प्रयागराज हाईकोर्ट से जमानत मिली। इसके बाद उन्हें सच का पता चला और मौके पर पहुंची पुलिस गोपीगंज थाने ले आई।

 


Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News