जहां BJP हार रही, वहां मतगणना धीमी करने का निर्देश दे रहे हैं यूपी सरकार के अधिकारी: अखिलेश

punjabkesari.in Tuesday, Mar 08, 2022 - 09:03 PM (IST)

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार की शाम को उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर प्रशासनिक मशीनरी के जरिये वोटों की चोरी का आरोप लगाते हुए दावा किया कि उत्तर प्रदेश सरकार के अधिकारी अपने अधीनस्थों को निर्देश दे रहे हैं कि जहां भाजपा हार रही है, वहां मतगणना धीमी कर दी जाए।

 

https://up.punjabkesari.in/uttar-pradesh/news/up-government-officials-are-instructing-to-slow-down-the-counting-akhilesh-1560771
Koo App
बीजेपी की हार तय है इसीलिए भाजपा एग्जिट पोल दिखाकर प्रशासन पर अपना दबाव बनाकर EVM मशीनों को लूटकर जनता के जनादेश को लूटना चाहती है, लेकिन इस मुद्दे पर पूरा विपक्ष एक साथ है और जनता भी* यदि मतगणना में भाजपा ने प्रशासनिक मशीनरी का दुरुपयोग करने की कोशिश की तो सम्पूर्ण विपक्ष के नेतृत्व में जनता सड़क पर होगी,जिसका जिम्मेदार प्रशाशन होगा - ANSHU AWASTHI (@AnshuINC) 9 Mar 2022

मंगलवार की शाम को सपा मुख्यालय में अचानक बुलाई गई पत्रकार वार्ता में यादव ने आरोप लगाया कि हमारे लोगों को जानकारी मिली है कि मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव जिलों में डीएम (जिलाधिकारी) को फोन कर कह रहे हैं कि जहां जहां भाजपा के उम्मीदवार हारे वहां पर मतगणना धीमी होनी चाहिए। सपा प्रमुख ने आरोप लगाया कि बनारस में बिना प्रत्याशियों को संज्ञान में लिये इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) ले जाई जा रही थी और एक ट्रक पकड़ा गया और दो ट्रक भाग गये। उन्होंने सवाल उठाया कि अगर सरकार वोट की चोरी नहीं कर रही थीं तो कम से कम बताए कि एक गाड़ी पकड़ी गई तो दो गाड़ियां क्यों भागी, प्रशासन ने सुरक्षा का प्रबंध क्‍यों नहीं किया। उन्होंने कहा,‘‘ ईवीएम कहीं भी रखी लेकिन मेरी जानकारी है कि बिना प्रत्याशी को बताए आप उसे नहीं ले जा सकते हैं।''

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा,‘‘कल जो एक्जिट पोल आए मैं उस पर बोलना नहीं चाहता था लेकिन जो एक्जिट पोल आए हैं वह कहीं न कहीं यह धारणा बनाना चाहते हैं कि भाजपा जीत रही है जिससे वे अगर चोरी भी करें तो वो भी पता न लगे।'' उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा,‘‘ अगर हमने वोट दिया है तो मैं अपने नौजवानों, किसानों से कहूंगा कि उतनी ही हमारी जिम्मेदारी बनती है कि वोट को बचाएं। अगर वोट नहीं गिना जाएगा जो लोकतंत्र कहां जाएगा, यह लोकतंत्र की आखिरी लड़ाई है।'' यादव ने कहा कि ये लोकतंत्र का आखिरी चुनाव है, क्योंकि, इसके बाद जिस तरह से आजादी के लिए लड़ाई लड़ी गई उसी तरह से आपको, हमको क्रांति करनी पड़ेगी। उन्‍होंने कहा, ''मैं तो अपने नौजवानों से अपील करूंगा कि जहां किसान इतने साल बैठे रहे जब सरकार झुकी, कम से कम तीन दिन लोकतंत्र के अखंड प्रहरी बनकर ईवीएम को बचाएं, चुनाव को बचाएं।''

सपा प्रमुख ने आरोप लगाया कि बरेली में और सोनभद्र में बड़े पैमाने पर चीजें पकड़ी गईं। उन्‍होंने कहा ,‘‘ जब तक मतगणना न हो जाए तब तक पार्टी के लोग लगातार निगरानी रखें कि कैसे वोट बचाया जा सकता है। ये लोकतंत्र के लिए बहुत ही खतरे का समय है। ये जितने भी एक्जिट पोल हुए हैं सब इसीलिए हुए हैं चोरी भी करें तो नजर न आए। ईवीएम पकड़ी गई है तो बहाना कोई न कोई अधिकारी बताएंगे ही। '' उन्‍होंने बनारस के जिलाधिकारी पर भी बेईमानी के आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘ मैं उसे अच्छी तरह जानता हूं।'' मतगणना केंद्रों के बाहर समाजवादी पार्टी ने जैमर लगाए जाने की मांग की है। इस संदर्भ में पूछे गये सवाल पर यादव ने कहा कि जैमर इसलिए लगाया जाए क्योंकि कई लोग आशंका व्यक्त कर रहे हैं कि तकनीक का प्रयोग करके कुछ मैनिपुलेशन किया जा सकता है।

उन्होंने आयोग की भूमिका पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि चुनाव आयोग से जिस अधिकारी की शिकायत की गई, एक भी अधिकारी हटाया नहीं गया, इसलिए ‘‘मैं कह रहा हूं कि अगर लोकतंत्र बचाना है तो लोगों को लड़ना पड़ेगा।'' यादव के साथ पत्रकार वार्ता में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख व पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर समेत कई प्रमुख नेता मौजूद थे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static