UP में सुशासन की सरकार रास नहीं, अराजकता का माहौल बनाना चाहते हैं विपक्षी दल: स्वतंत्र देव

punjabkesari.in Saturday, Oct 24, 2020 - 06:01 PM (IST)

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने शनिवार को विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि विरोधी दल हिंसा और अराजकता को बढ़ावा देकर राज्य में अस्थिरता पैदा कर अनिश्चितता का माहौल बनाना चाहते हैं।

भाजपा द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष स्‍वतंत्र देव सिंह ने शनिवार को जौनपुर जिले के मल्हनी विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में किसान चौपाल में उपस्थित किसानों को संबोधित किया। बयान के अनुसार सिंह ने आरोप लगाया, “उत्तर प्रदेश को जाति-धर्म की राजनीति में बांट कर अपनी-अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने वाले दलों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश में अपराध मुक्त, भ्रष्टाचार मुक्त और सुशासन की सरकार रास नहीं आ रही है, इसीलिए वे हिंसा और अराजकता को बढ़ावा देकर राज्य में अस्थिरता पैदा कर अराजकता का वातावरण बनाना चाहते हैं।''

उन्‍होंने कहा कि जिन लोगों के एजेंडे में कभी भी गांव-गरीब, किसान और नौजवान नहीं थे, वही लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्‍व वाली भाजपा की सरकारों द्वारा किसानों के लिए किए जा रहे कल्‍याणकारी कार्यों से बेचैन हो उठे हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया, ''कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी जैसे दलों ने अपनी सत्ता में किसान हितों की अनदेखी करते हुए केवल बिचौलियों और दलालों की चिंता की। अब यही दल मोदी-योगी के नेतृत्‍व में चल रही सरकारों द्वारा किसान के हित में लिए जा रहे फ़ैसलों का विरोध कर रहे हैं। ऐसे दलों के नेताओं को अन्नदाता किसानों के दर्द से कोई लेना देना नहीं है।''

सिंह ने कहा कि कुछ दल यह कह रहे हैं कि अगर वे सत्‍ता में आए तो जम्‍मू-कश्‍मीर में धारा 370 और 35ए की बहाली करेंगे लेकिन ऐसी सोच रखने वालों के मंसूबों को कभी जनता पूरा नहीं होने देगी। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित ने शनिवार को बताया कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष स्‍वतंत्र देव सिंह 27 अक्‍टूबर को कानपुर की घाटमपुर और उन्‍नाव की बांगरमऊ विधानसभा सीट पर भाजपा उम्‍मीदवार के समर्थन में चुनाव प्रचार करेंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static