वाह रे खाकीः बीच सड़क से पुलिस ने भाई को उठाया, छोड़ने के लिए बहन से मांगा 2 लाख

3/4/2021 5:16:54 PM

अलीगढ़ः उत्तर प्रदेश पुलिस आए दिन नए-नए कांड करके सुर्खियों में बनी रहती है।ताजा मामला उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ का है। जहां वाहन चेकिंग के नाम पर चौकी इंचार्ज द्वारा एक युवक को सुबह से थाने में बैठाने व उसके परिवार के लोगों से छोड़ने के एवज़ में 2 लाख रुपये की मांग करने को लेकर हंगामा हो गया।

पुलिस चौकी पहुंची महिला ने बताया की कल सुबह 10:30 बजे से मेरे भाई को थाने में पकड़कर बंद कर दिया है, मैं अपने भाई के साथ दवा लेने जा रही थी तभी दो लेपर्ड पर तैनात पुलिसकर्मियों ने एक्टिवा को रोका एक्टिवा पर नंबर नहीं थे। तभी पुलिसकर्मियों ने पूछा कि इस पर नंबर, क्यों नहीं हैं तो भाई ने कहा कि नया एक्टिवा है नम्बर पड़वा लूंगा फिर उन्होंने कहा कि तुम पेपर लेकर आओ हम अज़ीम को चौकी लेकर जा रहे हैं।

उसने आगे बताया कि मैं चौकी आयी तो मुझे बताया कि मेरे भाई को थाने भेज दिया है थाने गई तो कहा कि चौकी वाले हो करेंगे जो करना है,,फिर 2 लाख रुपये की मांग की गई जिसे कम करते करते 1 लाख रुपये पर आ गए,,मेरे भाई की 14 मार्च को शादी भी है,,फिर मैंने जैसे तैसे कर के 50 हज़ार रुपये का इंतज़ाम किया जैसे ही को पीएस चौकी इंचार्ज को दिए लेकिन उसने फेंक दिए बोला यहां मंडी नहीं खोल रखी है।

बता दें कि मामला अलीगढ़ के सिविल लाइन थाने की जमालपुर पुलिस चौकी का है। जहां पुलिस ने परिवार के लोगों से छोड़ने के एवज़ में 2 लाख रुपये की मांग की। जहां मामले को लेकर हंगामा हो गया। इसके बाद रात्रि में एसपी सिटी व डीएसपी सिविल लाइन पहुंचे और उन्होंने आरोपी चौकी इंचार्ज सहित 2 सिपाहियों को लाइन हाज़िर किया, पकड़े गए युवक को भी छोड़ दिया गया।

घटनाक्रम के दौरान रात्रि में ही पुलिस चौकी पहुँचे पुलिस अधीक्षक नगर ने बताया कि सिविल लाइन की जमापलपुर पुलिस चौकी क्षेत्र में एक महिला ने आरोप लगाया कि उसके भाई को पुलिस ने मोटर साईकिल के साथ पकड़ा और उसकी बाइक को ज़ब्त किया गया तथा छोड़ने की एवज़ में पैसे मांगे गए,,इस मामले में इन सभी आरोपों की जांच आगे की जाएगी अभी तत्काल प्रभाव से जिन पोलिसकर्मियों पर आरोप लगाए गए हैं उनको लाइन में भेजा जा रहा है।

 

 

 

 

 

 

 


Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News