योगी कैबिनेट का बड़ा फैसला: नौनिहालों के यूनीफार्म के लिए 1800 करोड़ मंजूर, अब सीधे अभिभावकों के खाते में पैसा भेजेगी सरकार

10/23/2021 11:37:14 AM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में परिषदीय विद्यालयों एवं अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालयों में कक्षा 8 तक के छात्र छात्राओं की यूनीफॉर्म, स्वेटर, जूता-मोजा तथा स्कूल बैग का पैसा छात्र-छात्राओं के माता पिता अथवा अभिभावकों के खातों में भेजे जाने के प्रस्ताव को योगी मंत्रिमंडल ने अपनी मंजूरी दे दी है।  

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शुक्रवार को मंत्रिमंडल की बैठक में यह मंजूरी दी गयी। फ्री यूनीफॉर्म, स्वेटर, जूता-मोजा और स्कूल बैग के लिए एक करोड़ 60 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं के माता/पिता/अभिभावकों के बैंक खातों में डीबीटी के माध्यम से लगभग 1800 करोड़ रुपये की धनराशि अन्तरित की जाएगी। इस फैसले से नि:शुल्क यूनीफॉर्म, स्वेटर, स्कूल बैग एवं जूता-मोजा के लिये धनराशि उपलब्ध कराने की पारदर्शी व्यवस्था स्थापित हो सकेगी तथा हस्तान्तरित धनराशि का ऑडिट ट्रेल रहेगा। विद्यालयों में नामांकित सभी बच्चों को एक साथ ही यूनीफॉर्म, जूता-मोजा, स्कूल बैग एवं स्वेटर उपलब्ध हो सकेंगी। इससे स्थानीय स्तर पर बाजार विकसित होगा, जिसके फलस्वरूप ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार के अवसर बढ़ेंगे। छात्र-छात्राओं को समय से सुविधाएं उपलब्ध होने से उनकी उपस्थिति एवं सीखने-सिखाने के वातावरण में सुधार होगा।

ज्ञातव्य है कि अभी कक्षा 01 से 08 तक के छात्र-छात्राओं को नि:शुल्क यूनीफॉर्म केन्द्र एवं राज्य सरकार के बजट से तथा जूता-मोजा, स्वेटर, स्कूल बैग राज्य सरकार के बजट से नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाता है। इससे छात्र-छात्राओं को यूनीफॉर्म, स्वेटर, जूता-मोजा तथा स्कूल बैग की ससमय आपूर्ति एक चुनौती बनी रहती है तथा गुणवत्ता के सम्बन्ध में कभी-कभी शिकायतें भी प्राप्त होती हैं। इसके मद्देनजर मंत्रिपरिषद द्वारा यह निर्णय लिया गया है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static