किसान की छाती पर जवान की लाठी अब बर्दाश्त नहीं: विकास मणि

11/27/2020 12:26:36 PM

देवरिया: उत्तर प्रदेश के देवरिया में बिस्मिल संघर्ष समिति के अध्यक्ष विकास मणि ने आज यहां कहा है कि किसान की छाती पर जवान की लाठी अब बर्दाश्त नहीं है।

मणि ने अपने बयान में कहा है कि आज दिल्ली पहुंचने वाले रास्तों पर सुरक्षा की ऐसी व्यवस्था है जैसे किसान नहीं आतंकवादी दिल्ली की सीमा में घुसना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि यह देश की विडंबना है कि पहले 2 अक्टूबर को और फिर आज 26 नवंबर संविधान दिवस के अवसर पर किसानों के ऊपर लाठियां चलाई गई हैं। आंसू गैस के गोले छोड़े गए और उन्हें बर्बर तरीके से मारा गया। यह सब इसलिये किया गया कि कॉर्पोरेट घरानों के हाथ किसानों की किसानी को बेच सकें।

उन्होंने कहा है कि किसान ने अपनी लड़ाई आज नहीं लड़ी तो उसे कल आत्महत्या करनी पड़ेगी। अपनी जमीन से हाथ धोना पड़ेगा और उसके मालिक चंद लोग बन जाएंगे जो बड़े-बड़े उद्योगपति होंगे।


Umakant yadav

Related News