गणतंत्र दिवस पर 10 वर्षीय राखी को मिलेगा ‘मार्कण्डेय पुरस्कार’, जानिए वजह

1/25/2020 1:50:52 PM

पौड़ी गढ़वाल: उत्तराखंड में पौड़ी गढ़वाल जिले के चौबट्टाखाल विधानसभा क्षेत्र में देवकुंडई की रहने वाली 10 साल की राखी को उसकी वीरता के लिए 'मार्कण्डेय पुरस्कार' से सम्मानित किया जाएगा। ये सम्मान उसे 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के दिन राजधानी दिल्ली में दिया जाएगा।

बता दें कि बीते 4 अक्टूबर की शाम को राखी अपने 4 वर्षीय भाई राघव को कंधे पर बैठाकर अपनी मां के साथ खेत से गांव आ रही थी। तभी अचानक एक गुलदार ने राखी के भाई राघव पर झपट्टा मार दिया। इसीक्रम में अपने भाई की जान बचाने के लिए राखी गुलदार के सामने आ गई और भाई को अपने नीचे दबा लिया। जिससे गुलदार राघव पर हमला नहीं कर पाया। वहीं गुलदार के हमले में अपने 4 साल के भाई की जान बचाने वाली राखी को उसकी बहादुरी के लिए गणतंत्र दिवस के मौके पर मार्कण्डेय पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। सम्मान के लिए राखी को राजधानी दिल्ली बुलाया गया है।

हालांकि इस हमले में राखी गंभीर रूप से घायल हो गई थी। कई दिनों तक दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में राखी रावत का इलाज चला। 5वीं क्लास में पढ़ने वाली राखी की इस बहादुरी के लिए प्रदेश सरकार ने राखी का नाम वीरता पुरस्कार के लिए नामित किया है। वहीं मार्कण्डेय पुरस्कार के मिलने की आश में राखी और उसके परिवार वाले काफी खुश हैं।


Ajay kumar

Related News