कोरोनाः धारचूला में फंसे 500 प्रवासी मजदूर, नेपाल सरकार ने आवाजाही पर लगाई रोक

3/30/2020 5:55:14 PM

पिथौरागढ़ः देश के विभिन्न हिस्सों से घर लौट रहे 500 से अधिक प्रवासी नेपाली मजदूर धारचूला में फंस गए हैं। नेपाल सरकार द्वारा उनकी आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए उठाए जा रहे एहतियाती कदमों के तहत नेपाल सरकार ने अन्य देशों से अपने यहां आवाजाही पर लगे प्रतिबंध को और 10 दिन के लिए बढ़ा दिया है। शुरुआत में यह प्रतिबंध 23 मार्च से 29 मार्च तक के लिए लगाया गया था। इन नेपाली मजदूरों को फिलहाल धारचूला के शमशान घाट में बने छप्पर में रखा गया है, जहां जिला प्रशासन उनकी देखरेख कर रहा है।

इस बारे में धारचूला के उपजिलाधिकारी एसके शुक्ला ने कहा कि अगर इनकी संख्या और बढ़ती है तो इनके आश्रय और भोजन की मुश्किल पैदा हो सकती है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बाद देश के विभिन्न हिस्सों में दैनिक कामगार के रूप में काम करने वाले ये नेपाली नागरिक अपने वतन वापसी के लिए यहां धारचूला में एकत्र हुए हैं।

शुक्ला ने बताया कि नेपाल द्वारा सीमा से आवाजाही पर लगा प्रतिबंध और 10 दिन के लिए बढ़ा दिए जाने के कारण सभी को यहां रूकना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि काली नदी पर बने पुल को भारत खोलने के लिए तैयार है लेकिन नेपाली अधिकारी इसके खिलाफ हैं। अधिकारी ने बताया कि इन सभी की प्राथमिक जांच की गई है और फिलहाल किसी में संक्रमण के लक्षण नहीं हैं।


Nitika

Related News