इस वर्ष किसानों से 50 करोड़ के सेब खरीदने का एप्पल फेडरेशन उत्तराखंड का लक्ष्य

4/6/2021 4:59:07 PM

 

देहरादूनः आज उत्तराखंड एप्पल फेडरेशन की देहरादून मियां वाला सहकारिता भवन मुख्यालय में एग्जीक्यूटिव कमिटी की बैठक हुई। इस बैठक में एप्पल फेडरेशन के अध्यक्ष जगत सिंह चौहान, उपाध्यक्ष अमृत सिंह नागर निदेशक रुद्रप्रयाग देवेंद्र पवार, निदेशक चमोली राकेश भंडारी, निदेशक प्रताप सिंह रावत, निदेशक उत्तरकाशी जयेंद्र सिंह, तथा प्रबंध निदेशक एप्पल फेडरेशन आनंद शुक्ला व सचिव विपिन पैन्यूली मौजूद थे।

मीटिंग में यहां कार्ययोजना तय की गई कि इस बरस 15 जुलाई से शुरू होने वाले सीजन में एप्पल सीजन में 10 हज़ार मीट्रिक टन सेब जिसका न्यूनतम मूल्य 50 करोड़ है, इसकी कार्य योजना धरातल पर कैसे उतारी जा सके, उसके लिए विचार विमर्श किया गया। इसमें केपीएमजी कंसलटिंग कंपनी के संजीव जैन को एग्जीक्यूटिव कमेटी द्वारा यह कार्य योजना बनाने के लिए कहा गया कि किस तरह हम 50 करोड़ के लक्ष्य को खरीद सके। किसानों द्वारा खरीद सके और उसको उचित मूल्य पर दे सके, जिससे फेडरेशन को कोई हानि ना हो और किसानों को उनका पूरा मूल्य मिल सके। साथ ही कार्य योजना में यह भी विचार किया गया कि किस तरह से पुराने सेब के बगीचों को विकसित कर सके और नए बगीचे लगा सके। यह योजना भी केपीएमजी तैयार करेगा।

प्रबंध निदेशक अपील फेडरेशन आनंद शुक्ला ने बताया कि इस कार्य योजना को पूर्ण करने के लिए यूओआई सर्कुलेट की जाएगी। यूओआई देश दो प्रमुख समाचार पत्रों में प्रकाशित की जाएगी। यू आई निविदा होगी, जो ज्वाइंट वेंचर के तहत कार्य करेंगी। इसमें सबसे बेस्ट कंपनी का चयन किया जाएगा, जिससे 10 हजार मीट्रिक टन के लक्ष्य को खरीदने व बेचने की स्थिति को बिना हानि के प्राप्त किया जा सके। एप्पल फेडरेशन के अध्यक्ष जगत सिंह चौहान ने बताया कि जो कार्य योजना बनाई जा रही है उससे उत्पादकों को लाभ होना चाहिए, इस योजना को तुरंत धरातल पर उतारा जाए, ताकि 15 जुलाई से सीजन को पकड़ कर किसानों को लाभान्वित किया जा सके। केपीएमजी के संजीव जैन द्वारा अपनी प्रेजेंटेशन में बताया गया कि हम लोग 17 कलेक्शन प्वाइंट, 17 को ऑपरेटिव सोसाइटी के साथ 17 कलेक्शन सेंटर बनाएंगे। इन पर एक ग्रेडिंग मशीन, एक नापतोल मशीन, एक टेस्टर एक 5 किलो वाट का जनरेटर सेट, 3000 प्लास्टिक क्रेट्स उपलब्ध करवाई जाएंगी, जिससे ग्रेडिंग ऑनसाइट होकर सीधे एप्पल बाजार जा सके।

बता दें कि उत्तराखंड के उच्च हिमालय क्षेत्र में सेब का सीजन 15 जुलाई से शुरू होकर 30 अक्टूबर तक होता है। उत्तराखंड राज्य सहकारिता विभाग किसानों के सेब के उचित दाम देने जा रहे हैं। उत्तराखंड में 7 करोड़ किलो सेब का उत्पादन किया जाता है, जिसमें ए, बी और सी ग्रेड सम्मिलित है तथा कार्य योजना में यह भी निर्णय लिया गया कि किसानों का तीनों ग्रेड का सेब खरीदा जाए। वह दिन दूर नहीं है जब उत्तराखंड का सेब हिमाचल और जम्मू कश्मीर के सेब की बराबरी करेगा। एप्पल फेडरेशन के निदेशकों द्वारा सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत का आभार जताया गया कि उन्होंने देश का पहला सेब फेडरेशन स्थापित करने में अहम भूमिका निभाई है।


Content Writer

Nitika

Related News