बारिश के बाद भूस्खलन से चारधाम यात्रा पर लगी रोक, रास्ते में ही फंसे हुए गंगोत्री धाम के हजारों यात्री

punjabkesari.in Tuesday, Sep 27, 2022 - 12:17 PM (IST)

उत्तरकाशी: उत्तराखंड के उत्तरकाशी में गंगोत्री धाम के यात्री रास्ते में ही फंसे हुए हैं। दरअसल, गंगोत्री हाईवे पर भटवाड़ी से आगे हेलगूगाड़ के समीप लगातार भूस्खलन के कारण गंगोत्री धाम की यात्रा तीसरे दिन भी अवरुद्ध रही। भारी बारिश होने के बाद हेलगूगाड़ में पहाड़ी से पत्थरों के गिरने का सिलसिला पिछले 3-4 से जारी है, जिस कारण मार्ग पर आना-जाना बंद किया हुआ है। वहीं, जगह-जगह ठहरे गंगोत्री धाम के हजारों यात्री सोमवार को भी गंगोत्री धाम के दर्शन नहीं कर पाए।

हजारों यात्रियों के उम्मीदों पर फिरा पानी
बता दें कि भटवाड़ी से आगे हेलगूगाड़ में पहाड़ी से चट्टानी मलबा लगातार गिर रहा है। मलबा गिरने के कारण बीआरओ की मशीनरी हाईवे को आवाजाही के लिए नहीं खोल पा रही है। जिला प्रशासन ने बीते शनिवार और रविवार को गंगोत्री धाम की यात्रा रोकने का निर्णय बारिश के येलो अलर्ट और हेलगूगाड़ में भूस्खलन की स्थिति को देखते हुए लिया था। सोमवार को उत्तरकाशी और अन्य यात्रा पड़ावों पर ठहरे हजारों यात्रियों को गंगोत्री धाम के दर्शन की उम्मीद थी, लेकिन हाईवे न खुल पाने से यात्रियों के दर्शन की उम्मीदों पर पानी फिर गया। देर शाम तक यात्री मार्ग खुलने का इंतजार करते रहे।

यात्री हो रहे हैं परेशान
इस मामले में जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि हेलगूगाड़ में पहाड़ी से पत्थर गिरने का सिलसिला नहीं थम रहा है, जिस कारण बीआरओ की मशीनरी मार्ग नहीं खोल पा रही। ऐसे हाल में यात्रियों को आगे नहीं जाने दिया सकता है। उन्होंने कहा कि जैसे ही पहाड़ी से बोल्डर गिरना रुकेगा, तभी मार्ग खुल सकेगा। मार्ग खुलते ही सबसे पहले गंगोत्री धाम वाले ऊपरी छोर से यात्रियों के वाहन निकाले जाएंगे। देवेंद्र पटवाल ने बताया कि यमुनोत्री हाईवे पर सुबह भूस्खलन के कारण यातायात कई स्थानों पर ठप रहा। यमुनोत्री हाईवे पर सोमवार की सुबह किसाला, डबरकोट, सिल्क्यारा, कल्याणी आदि स्थानों पर भूस्खलन के कारण मार्ग करीब 3 घंटे बंद रहा। जिस कारण यात्री परेशान रहे। हालांकि सुबह ही सभी स्थानों पर यमुनोत्री हाईवे यातायात के लिए खुल गया था।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Khushi

Related News

Recommended News

static