धन सिंह रावत ने दी सख्त हिदायतें, कहा- निजी शिक्षण संस्थानों की अब नहीं चलेगी मनमानी

punjabkesari.in Wednesday, May 11, 2022 - 07:55 PM (IST)

 

नैनीतालः निजी शिक्षण संस्थानों की मनमानी को लेकर शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने मंगलवार को सख्त तेवर दिखाते हुए हिदायत दी कि निजी स्कूलों को सरकारी नियमों का पालन करना होगा और शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत गरीब बच्चों को स्कूलों में प्रवेश देना होगा। उन्होंने कहा कि अब मनमानी कतई नहीं चलेगी।

रावत मंगलवार को हल्द्वानी के सर्किट हाउस में निजी स्कूलों के प्रतिनिधियों के साथ बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि निजी स्कूलों में आरटीई के तहत 25 प्रतिशत बच्चों को हर हाल में प्रवेश देना होगा। साथ ही निर्धारित शुल्क ही लेना होगा। रावत ने इस दौरान शिक्षा अधिकारियों से सख्त लहजे में शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने के साथ ही शिक्षा की गुणवत्ता पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार बेसिक शिक्षा के तहत 15 बच्चों पर एक शिक्षक, माध्यमिक में 20 बच्चों पर व उच्च शिक्षा में 35 छात्रों पर एक प्रवक्ता के नियम का पालन करने को कृत संकल्पित है।

उन्होंने आगे कहा कि एनसीईआरटी पाठ्यक्रम के तहत अब स्कूलों में कर्मकांड, जोतिष, योग, रामायण, महाभारत, वेदपुराण की भी शिक्षा दी जायेगी और भारतीय ज्ञान परंपरा के साथ ही रोजगारपरक व प्रतिस्पर्द्धात्मक शिक्षा प्रदान की जायेगी। उन्होंने निजी शिक्षण संस्थानों से कहा कि एक-एक गांव को गोद लें और शिक्षा की अलख जगाएं। यही नहीं उन्होंने गांव में साक्षरता व स्वच्छता में रचनात्मक सहयोग देने की भी बात कही। उन्होंने सभी अधिकारियों व निजी स्कूलों के प्रतिनिधियों से कहा कि तम्बाकू मुक्त प्रदेश बनाने में सहयोग करें और 31 मई को तम्बाकू नियंत्रण दिवस पर छात्रों व अभिभावकों को तम्बाकू निषेध की शपथ दिलाएं। इस अवसर पर निजी शिक्षण संस्थाओं की ओर से भी सुझाव पेश किये गये।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Diksha kanojia

Related News

Recommended News

static