लॉकडाउन के बीच घर में हुई पिता की मौत, दिल्ली में फंसे 2 बेटों को सांसद ने पहुंचाया घर

3/29/2020 6:39:04 PM

 

बागेश्वरः कोरोना महामारी के चलते लोगों की भलाई के लिए 21 दिनों का देशव्यापी लॉकडाउन किया गया है। जहां एक तरफ इससे लोगों की जान बचाई जा रही है, वहीं दूसरी तरफ इससे कई लोगों को परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है। ऐसा ही एक मामला उत्तराखंड से सामने आया है, जहां पर घर में पिता की मौत हो गई और उनके लड़के लॉकडाउन के कारण दिल्ली में फंस गए। वहीं सांसद की मदद से दोनों बेटों और मृतक की पत्नी को घर पहुंचाया गया।

जानकारी के अनुसार, मामला बागेश्वर जिले के गांसी गांव का है, जहां पर 70 वर्षीय मानी राम की मौत हो गई। मृतक के दोनों बेटे दिल्ली की एक निजी कंपनी में काम करते थे। इसी बीच उन्हें पिता के निधन होने की सूचना मिली लेकिन लॉकडाउन होने के कारण उनको आवाजाही का कोई साधन नहीं मिल रहा था, जिसके कारण उन्हें परेशानी हो रही थी।

वहीं गांसी की प्रधान प्रीता देवी और जिला रेडक्रास सोसायटी के चेयरमैन अशोक लोहनी ने सांसद अजय टम्टा से संपर्क किया। इसके बाद उन्होंने सांसद को सारी समस्या से अवगत करवाया। बता दें कि सांसद अजय टम्टा मददगार बनकर सामने आए। सांसद ने मृतक के दोनों लड़कों और बहू को घर भेजने में मदद की। शनिवार को घर पहुंचकर पुत्रों ने पिता का अंतिम संस्कार किया।


Nitika

Related News