उत्तराखंड में खराब मौसम के कारण रुकी हेमकुंड यात्रा, रास्ते में ही रोके गए श्रद्धालु

punjabkesari.in Tuesday, Jun 21, 2022 - 03:15 PM (IST)

 

गोपेश्वरः उत्तराखंड में खराब मौसम की वजह से हेमकुंड गुरुद्वारे की यात्रा पर जा रहे श्रद्धालुओं को एहतियातन गंतव्य से 6 किलोमीटर पहले ही रोक दिया गया है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि हेमकुंड साहिब में सोमवार सुबह से ही बारिश तथा बर्फबारी हो रही है, जिससे वहां ठंड बढ़ गई है। उन्होंने बताया कि मौसम के बिगड़े मिजाज के चलते तीर्थयात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उन्हें घांघरिया में ही रुकने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि रविवार को भी हेमकुंड में मौसम खराब रहा। सोमवार को सुबह कुछ समय मौसम ठीक हुआ लेकिन बाद में फिर बारिश और बर्फबारी शुरू हो गई।

|यात्रा से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि श्रद्धालुओं को घांघरिया से आगे नहीं जाने दिया जा रहा है और सुबह हेमकुंड साहिब के लिए निकल गए तीर्थयात्रियों को भी सकुशल वापस लाने के लिए राज्य आपदा प्रतिवादन बल के जवान भेजे गए हैं। सिखों के पवित्र तीर्थस्थल हेमकुंड साहिब के लिए लंबी पैदल यात्रा करनी पड़ती है। पुष्पावती घाटी में बद्रीनाथ राजमार्ग के समीप पुलना गांव से पहले पड़ाव घांघरिया तक पहुंचने के लिए लगभग 11 किलोमीटर की पैदल यात्रा करनी पड़ती है।

घांघरिया से हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा 6 किलोमीटर है, जो इस यात्रा का सबसे कठिन हिस्सा है। समुद्र तल से तकरीबन 16 हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित होने के कारण यहां बारिश और बर्फबारी होती रहती है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Nitika

Related News

Recommended News

static