दिवंगत इंदिरा हृदयेश की अंतिम यात्रा शुरू, हल्द्वानी के चित्रशिला घाट पर होगा अंतिम संस्कार

6/14/2021 10:38:55 AM

 

नैनीतालः उत्तराखंड में प्रतिपक्ष की नेता इंदिरा हृदयेश की अंतिम यात्रा शुरू हो गई है। दिवंगत नेता इंदिरा हृदयेश का पार्थिव शरीर राजभवन के लिए ले जाया जा रहा है।

पूर्व सीएम हरीश रावत और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह राजभवन में इंदिरा हृदयेश को श्रद्धांजलि देंगे। आज उनके गृहनगर हल्द्वानी में चित्रशिला घाट पर इंदिरा हृदयेश को अंतिम विदाई दी जाएगी। प्रखर वक्ता के रूप में जाने जाने वाली इंदिरा हृदयेश का का रविवार को दिल्ली में दिल दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह संगठन की बैठक में प्रतिभाग करने के लिए दिल्ली प्रवास में थी। उन्होंने शनिवार को कांग्रेस संगठन की ओर से आयोजित बैठक में भाग लिया और आज भी बैठक में शरीक होना था। कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष और उनके करीबी रहे सतीश नैनवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि सुबह दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। उन्होंने बताया कि पार्थिव शरीर को दिल्ली से उनके गृहनगर हल्द्वानी लाया गया। काठगोदाम चित्रशिला घाट पर 11 बजे उन्हें अंतिम विदायी दी जाएगी।

वहीं इससे पहले रविवार देर रात तक उनका पार्थिव शरीर हल्द्वानी स्थित उनके घर पहुंचा। पार्थिव शरीर को सोमवार को को जनता के अंतिम दर्शनों के लिए हल्द्वानी स्थित कांग्रेस पार्टी के कार्यालय स्वराज आश्रम में रखा गया। पार्टी नेता व कार्यकर्ताओं के साथ आम लोग उन्हें श्रद्धांजलि देंगे। इसके बाद अंतिम यात्रा शुरू होगी और 11 बजे काठगोदाम चित्रशिला घाट पर उन्हें अंतिम विदाई दे दी जाएगी। हृदयेश के निधन से कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ ही आम लोगों में गहरा दुख है।

बता दें कि कांग्रेस की प्रदेश महिला अध्यक्ष सरिता आर्य ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि उनके निधन से प्रदेश को भारी नुकसान हुआ है। वह प्रदेश में विपक्ष की सशक्त आवाज थी। उत्तराखंड क्रांति दल के पूर्व केन्द्रीय अध्यक्ष नारायण सिंह जंतवाल और उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के केन्द्रीय अध्यक्ष पीसी तिवारी तथा महासचिव प्रभात ध्यानी ने उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया और कहा कि उनके निधन से प्रदेश को अपूरणीय क्षति हुई है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Nitika

Recommended News

static