धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले में रिजवी की जमानत याचिका निरस्त

punjabkesari.in Sunday, Jan 16, 2022 - 02:10 PM (IST)

 

हरिद्वारः उत्तराखंड के हरिद्वार में पिछले वर्ष हुई धर्म संसद में भड़काऊ भाषण मामले में गिरफ्तार जितेन्द्र नारायण सिंह त्यागी उफर् वसीम रिजवी की जमानत अर्जी शनिवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) मुकेश चन्द्र आर्य ने निरस्त कर दी।

जितेन्द्र नारायण सिंह त्यागी उफर् वसीम रिजवी की ओर से अधिवक्ता रिंकू वर्मा द्वारा पेश की गई जमानत याचिका पर सीजेएम श्री आर्य ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद, निरस्त कर दिया। दूसरी ओर, हरिद्वार पुलिस द्वारा 13 जनवरी को भड़काऊ भाषण मामले में त्यागी की गिरफ्तारी के बाद से उनकी रिहाई को लेकर सर्वानन्द घाट पर महामंडलेश्वर स्वामी यति नरसिंहानंद गिरी का अनशन जारी है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि पुलिस ने गलत तरीके से त्यागी की गिरफ्तारी की है। जब तक उन्हें जमानत नहीं मिल जाती, वह अन्न-जल ग्रहण नहीं करेंगे। इसके अलावा, इस मामले में दर्ज रिपोर्ट और पुलिस कार्रवाई के विरोध में संतों की प्रतिकार सभा रविवार को सर्वानंद घाट पर होगी। मण्डलेश्वर यति नरसिंहानंद के अनशन के कारण इसकी जगह बदली गई है। इस स्थान पर शुक्रवार से शतचंडी महायज्ञ शुरू हुआ है, जो रविवार सुबह पूर्णाहुति के साथ संपन्न होगा। इसमें 11 मुख्य ब्राह्मण और 40 विद्यार्थी ब्राह्मण यज्ञ कर रहे हैं।

धर्म संसद संयोजक स्वामी आनन्द स्वरूप ने बताया कि प्रतिकार सभा में कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। पहले इसमें हजारों संतों के आने की उम्मीद थी। मगर कोरोना को देखते हुए अब 500 के करीब संत ही शामिल होंगे। प्रतिकार सभा अब सर्वानंद घाट पर होगी। इसके साथ, जिला अधिकारी ने इस पर प्रतिबंध लगा दिया है। उनके अनुसार, इसकी अनुमति नहीं ली गई है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Nitika

Related News

Recommended News

static