प्रशासन की बड़ी लापरवाही, उत्तराखंड के अस्पतालों ने छिपाई कोरोना संक्रमित 89 मौतों की सूचना

10/18/2020 4:18:27 PM

 

देहरादूनः उत्तराखंड के 9 सरकारी और निजी चिकित्सालयों में कोरोना से संक्रमित 89 मरीजों की सूचना नियन्त्रण केन्द्र को न दिए जाने की अकर्मण्यता शनिवार को प्रकाश में आई है।

कोरोना राज्य नियन्त्रण केंद्र द्वारा जारी नियमित बुलेटिन के अनुसार, कुल 89 ऐसे कोरोना संक्रमितों की सूचना छिपाई गई, जिनकी मृत्यु इन चिकित्सालयों में हुई। यह जानकारी मिलने के बाद राज्य के मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने आनन-फानन में अधीनस्थों को ऐसे चिकित्सालयों पर नजर रखने के निर्देश दिए। रिपोर्ट के अनुसार, सर्वाधिक 28 संक्रमितों की मौत कैलाश अस्पताल, देहरादून में हुई, जिनकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को नहीं दी गई। यह अस्पताल पूर्व केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा का है। जबकि देहरादून के ही एक धार्मिक ट्रस्ट द्वारा संचालित श्रीमहंत इंद्रेश अस्पताल में 24 कोरोना संक्रमितों की मौत के आंकड़े छिपाए गए।

इतना ही नहीं, राजकीय दून मेडिकल कॉलेज में 21, एम्स ऋषिकेश में 2, हिमालयन अस्पताल देहरादून में 5, मैक्स अस्पताल, देहरादून में 2, विनय विशाल अस्पताल, रुड़की में 2, जया मैक्सवेल अस्पताल हरिद्वार में और राजकीय चिकित्सालय, रूद्रपुर में कुल 3 कोरोना संक्रमितों की मौत पिछले दिनों में हुई थी। सम्बन्धित लापरवाह चिकित्सालयों ने इसकी सूचना स्वास्थ्य निदेशालय को शनिवार को दी। बता दें कि इन आंकड़ों के बाद राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 924 पहुंच गई है।


Nitika

Related News