जातीय विद्वेष की भावना से काम कर रही योगी सरकार: AAP सांसद संजय सिंह

punjabkesari.in Saturday, Nov 27, 2021 - 05:28 PM (IST)

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में आदित्यनाथ की सरकार जातीय विद्वेष की भावना से काम कर रही है और कानून-संविधान का मजाक उड़ाया जा रहा है। सिंह ने शनिवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के राज में वंचित-शोषित समाज के गरीब तबके के खिलाफ दरिंदगी, हैवानियत, गुंडागर्दी की खुली छूट मिली हुई है।

प्रयागराज में 24 नवंबर को हुई घटना के संबंध में जानेंगे तो आपकी रूह कांप जाएगी। आजादी के 75 साल के बाद भारतीय जनता पार्टी पूरे देश में संविधान दिवस मनाने की नौटंकी कर रही है। समाज के जिस अंतिम आदमी को देश का संविधान पूरे अधिकार के साथ जीने का हक देता है, उसके साथ ऐसी दरिंदगी हुई है। मैं कल प्रयागराज उस परिवार से मिलने के लिए गया। एक परिवार के चार लोगों की हत्या कर दी गई। माता-पिता के अलावा जो बेटा बोल नहीं पाता था उसकी भी हत्या की गई।

इसके अलावा नाबालिग बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई। उनके भाई भारतीय फौज में हैं और देश की सेवा कर रहे हैं। उनकी पत्नी कह रही थी कि मुझे भी खतरा है। क्योंकि पति यहां रहते नहीं। मेरे साथ भी कल को कोई घटना हो सकती है। यह पूरी घटना आदित्यनाथ सरकार के प्रशासन और पुलिस वालों की लापरवाही से हुई है। गुंडों और अपराधियों के साथ प्रशासन की मिलीभगत के कारण यह घटना हुई है।

उन्होंने कहा कि इस परिवार के साथ 2019 में मारपीट की घटना होती है जिसमें बड़ी मुश्किल से एफआईआर दर्ज होती। दो साल हो गए लेकिन अपराधियों के खिलाफ आज तक आरोप पत्र दाखिल नहीं हुआ। इसके अलावा 2020 में इसी परिवार के साथ मारपीट होती है लेकिन फिर भी कोई कारर्वाई नहीं होती है। इसके बाद सितंबर 2021 में इसी परिवार के साथ फिर मारपीट होती है। इसके बाद हफ्ते भर तक लगातार परिवार गिड़गिड़ाता है कि हमारे मामले में कारर्वाई कीजिए। मीडिया और स्थानीय लोगों के प्रयास से उसमें एफआईआर होती है। तब से लेकर के 24 नवंबर तक वह लोग लगातार न्याय की गुहार करते रहे। लेकिन अपराधियों के खिलाफ कोई कारर्वाई नहीं हुई। पुलिस वाले उनके साथ मिलकर अपराध कराने में बढ़ावा देते है।

इसके बाद 24 नवंबर के दिन यह वीभत्स कांड हुआ। जहां पर एक नाबालिग बेटी के साथ दुष्कर्म होता है और एक दिव्यांग गला घोंटकर मार दिया जाता है। उसके मां-बाप की निर्मम तरीके से हत्या कर दी जाती है। यह हाथरस कांड से भी ज्यादा भयानक, भयावह और वीभत्स कांड है। श्री सिंह ने कहा कि प्रयागराज में चार लोगों की हत्या के मामले में‘आप'कल उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में प्रदर्शन करेगी। राष्ट्रपति से इस मामले में मिलने के लिए समय मांगा है। प्रयागराज में हुई चार लोगों की हत्या से अवगत कराएंगे। आम आदमी पार्टी की मांग है कि फास्टट्रैक कोर्ट बनाकर आरोपियों को छह महीने के अंदर फांसी दी जाए। उत्तर प्रदेश में जाति देख कर न्याय दिया जा रहा है, कानून-संविधान का मजाक उड़ाया जा रहा है। सरकार की संवेदनहीनता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि मुख्यमंत्री तो छोड़िए किसी मंत्री ने भी अभी तक पीड़ित परिवार से बात नहीं की है।

सांसद ने कहा कि आपको जानकर दुख भी होगा कि कितनी संवेदनहीन सरकार है। अब तक मुख्यमंत्री ने पीड़ति परिवार से बात नहीं की। उनके फौजी भाई से बात नहीं की। वहां सरकार का मुख्यमंत्री तो छोड़िए मंत्री भी अब तक नहीं गया। सरकार का बड़ा अधिकारी भी वहां जाकर के यह भरोसा दिलाने के लिए तैयार नहीं हुआ। उसकी एकमात्र वजह है कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार जातीय विद्वेष की भावना से काम कर रही है। जाति देखकर वहां न्याय दिया जाता है। उस हिसाब से आप को थाने से न्याय मिलेगा। अगर उनको जाति सूट करेगी तो न्याय मिलेगा और सूट नहीं करता है तो न्याय नहीं मिलेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस मामले में योगी आदित्यनाथ से मांग करता हूं कि कृपा करके खुद और अपनी सरकार को कुंभकरण की नींद से जगाइए। जानिए कि उत्तर प्रदेश मैं क्या हो रहा है। आदित्यनाथ जी खाली भाषण देने से और नफरत फैलाने से कुछ नहीं होता। खाली बड़ी बड़ी बातें करने से कुछ नहीं होता। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह कह रहे थे कि रात में 12 बजे भी कोई 16 साल की लड़की गहने पहन के घूम सकती है। यह घटना किस ओर इशारा कर रही है। मथुरा में दरोगा की परीक्षा दे करके एक बेटी अपने घर जा रही थी। उसके साथ दिनदहाड़े सामूहिक दुष्कर्म हो गया। आप लोग इतनी बड़ी-बड़ी बातें करते हैं।'' 

सिंह ने कहा उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था बद से बदतर हो चुकी है। छोटी-छोटी बच्चियों के साथ वहां बलात्कार की घटनाएं हो रही है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी इस मांग को लेकर कल पूरे उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में प्रदर्शन करेगी। मैंने इस पूरे प्रकरण को लेकर महामहिम राष्ट्रपति जी से समय भी मांगा है। उनसे अपील है कि इस प्रकरण में वे हस्तक्षेप करें उत्तर प्रदेश में आज जाति देख कर न्याय दिया जा रहा है। कानून और संविधान का मजाक उड़ाया जा रहा है। 


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static