BSP के पूर्व विधायक हाजी अलीम के दो बेटे पर प्रशासन ने कसा शिकंजा

punjabkesari.in Saturday, Nov 26, 2022 - 07:08 PM (IST)

बुलंदशहर: जिले के कोतवाली देहात थाना पुलिस ने पूर्व ब्लाक प्रमुख हाजी यूनुस पर पिछले साल हुए हमले में वांछित चल रहे पूर्व विधायक के दो बेटों की संपत्ति शनिवार को कुर्क कर ली। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। पुलिस के अनुसार दोनों आरोपी असद और जैद पूर्व ब्लाक प्रमुख के दिवंगत भाई पूर्व विधायक हाजी अलीम के बेटे हैं। हाजी अलीम ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से दो बार जिले की सदर विधानसभा सीट का प्रति‍निधित्‍व किया था। पुलिस के अनुसार पिछले साल पांच दिसंबर को दोपहर तीन बजे के करीब शादी समारोह से लौट रहे पूर्व ब्लॉक प्रमुख हाजी यूनुस के काफिले पर गाड़ी सवार कुछ लोगों ने गोलीबारी कर दी थी।

पुलिस के मुताबिक इस हमले में पांच लोगों को गोली लगी थी, जिसमें खालिद नाम के शख्स की मौत हो गई थी। हाजी यूनुस ने अपने चार सगे भतीजों समेत छह नामजद के खिलाफ साजिश रचने और 8-10 अज्ञात लोगों के खिलाफ घटना की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। हमले की वजह पारिवारिक विवाद के अलावा संपत्ति विवाद भी बताई गई थी। नामजद आरोपियों में से एक अनस अपने पिता हाजी अलीम की हत्या के मामले में जेल में बंद है। हाजी यूनुस पर हमले की साजिश रचने में दो अन्य लोगों बिलाल और खालिद को नौ दिसंबर को ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। बाकी अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई है।

सहायक पुलिस अधीक्षक (नगर) अनुकृति शर्मा ने बताया कि दिसंबर 2021 को पूर्व ब्लॉक प्रमुख हाजी युनुस के काफिले पर हमला हुआ था जिसमें एक खालिद की मृत्यु हुई थी और पांच छह लोग घायल भी हुए थे। मामले में दर्ज प्राथमिकी में कुछ लोग वांछित चल रहे थे। इनमें हाजी अलीम के बेटे भी शामिल थे, जिनकी संपत्ति शनिवार को कुर्क की गई। संपत्तियों की कीमत के सवाल पर शर्मा ने बताया कि संपत्ति काफी है और अभी उसका मूल्यांकन चल रहा है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static