निष्कासित होने के बाद स्वामी आनंद गिरी ने दी सफाई, बोले- महंत नरेंद्र गिरी हमारे गुरु और रहेंगे

punjabkesari.in Saturday, May 15, 2021 - 07:25 PM (IST)

प्रयागराजः अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने अपने शिष्य और प्रयागराज संगम स्थित बड़े हनुमान मंदिर के छोटे महंत स्वामी आनन्द गिरी को पंचायती अखाड़ा निरंजनी से निष्कासित कर दिया है। इसके बाद स्वामी आनंद गिरी ने सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर सफाई दी है।

उन्होंने कहा है कि उनके निष्कासन की कार्रवाई पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के पंच परमेश्वरों द्वारा की गई है। वे इस कार्रवाई से बहुत आहत हैं। स्वामी आनंद गिरी ने अपनी सुरक्षा को लेकर भी चिंता जतायी है, लेकिन उन्होंने अपने गुरु पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव और अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी को लेकर कहा है कि उनके खिलाफ मैंने कभी कुछ नहीं कहा है और आगे भी नहीं कहेंगे।

स्वामी आनंद गिरी ने कहा है कि भले ही उन्हें अखाड़े से निष्कासित कर दिया गया और उनके गुरु ने भी श्रीमठ बाघम्बरी गद्दी और बड़े हनुमान मंदिर से निष्कासित कर दिया है, लेकिन अपने गुरु के प्रति उनके मन में कोई आवेश नहीं है और महंत नरेंद्र गिरी उनके गुरु हैं और हमेशा गुरु ही रहेंगे। उन्होंने आरोप लगाया है कि इस कार्रवाई के बाद कुछ लोग सोशल मीडिया पर कई तरह की खबरें चलाकर गुरु-शिष्य को लड़ाने और गलतफहमी पैदा करने की कोशिश जरुर कर रहे हैं, लेकिन अपने गुरु के खिलाफ कोई कार्रवाई करने की न इच्छा है और न ही कोई कार्रवाई करनी है। ज्यादा उन्हें कुछ भी नहीं कहना है। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static