डॉक्टरों की लापरवाही! जिंदा युवक को किया मृत घोषित, पोस्टमार्टम से पहले चलने लगी सांसे

punjabkesari.in Saturday, Nov 20, 2021 - 03:02 PM (IST)

मुरादाबाद: उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में डॉक्टरों का आलम यह है कि जिंदा लोगों को भी मृत घोषित दें रहे हैं। ऐसे में एक ताजा मामला सामने आया है। सड़क हादसे में घायल युवक को प्राइवेट और सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद उसे मोर्चरी में रख दिया गया। अगले दिन मृतक की साँसे चलती हुई दिखाई दी। जैसे ही इस बात की खबर डॉक्टरों को लगी तो पूरे स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया, जिसके बाद उसे दोबारा इलाज करने के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया।

यह पूरा मामला के हजरतनगर गढ़ी थाना इलाके के पोटा बराही गांव की है, जहां सड़क हादसे में श्रीकेश नाम का युवक घायल हो गया, जिसे इलाज के लिए दिल्ली रोड पाकबड़ा के एक प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। जब वहां भी उनकी हालत नहीं सुधरी तो उन्हें मझोला के साईं अस्पताल और इसके बाद कांठ रोड के विवेकानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद श्रीकेश को मोर्चरी में रख दिया गया। अगले दिन पुलिस लाश का पंचनामा करने पहुंची तो पता चला कि उसकी सांसे चल रही है, जिसके बाद पूरे परिसर में अफरा तफरी मच गई।

इस घटना की खबर परिजनों को लगी तो उसे तुरंत मोर्चरी से उठाकर जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां उसका फिर से उपचार शुरु किया गया। इसके बाद श्रीकेश के परिजन जिंदा होने की खुशी जाहिर कर रहे है लेकिन, स्वास्थ्य विभाग पर नाराजगी भी जता रहे हैं। वहीं, इस मामले में सीएमएस डॉ शिव सिंह ने बताया मनोज यादव इमरजेंसी में थे उस समय मरीज को लाया गया। यादव ने बताया कि उस समय मरीज के जिंदा होने की कोई लक्षण नहीं थे और सांस भी नहीं चल रही थी, जिसके बाद उसे वह मोर्चरी में रखवा दिए। फिलहाल इस पूरी घटना की जांच की जा रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static