क्या आप भी डिप्रेशन, OCD जैसी मानसिक परेशानियों से गुजर रहे हैं? डायट में शामिल करें ये

1/10/2021 4:23:19 PM

सहारनपुर: यदि आप बेचैनी,घबराहट,अवसाद और आब्सेसिव कम्पल्सिव डिसऑर्डर जैसी मानसिक समस्याओं से जूझ रहे हैं तो अपनी डायट में केला, टमाटर,अनानास,पनीर,दूध जैसी चीजे शामिल करें जिनमें ट्रिप्टोफेन की मात्रा अधिक पायी जाती है।  योग गुरू गुलशन कुमार ने रविवार को बताया कि छोटी छोटी बातों से घबरा जाना,ओसीडी रोग जिसमे व्यक्ति बार बार हाथों को धोना, एक काम को बार बार करना, मन शंका के विचारो से घिरा रहना , मन दु:खी व परेशान रहने जैसी शिकायतों को आहार बदल कर ठीक किया जा सकता है।       

कुमार ने बताया ‘‘ योग की परम्परा में सात्विक आहार लेने की बात कही गयी है जिसमे फल,सब्जियां दुग्ध शुद्ध घी आदि को आहार में शामिल करना चाहिए। यदि सब कुछ रूपया पैसा, मान सम्मान, इज्जत शोहरत, सुख सुविधाएं व अच्छा परिवार होने पर भी आप खुश नहीं है तो इसका मतलब है कि आपके मस्तिष्क में न्यूरो कैमीकल सिरोटोनीन की मात्रा सामान्य से कम है, जिसके कारण व्यक्ति एन्ग्जाईिट, डिप्रेशन , तनाव में रहने लगता है। यह सिरोटोनीन हमारे शरीर के भीतर पाये जाने वाले एमिनो एसिड है ये एमिनो एसिड दो प्रकार के शरीर में पाये जाते है, एसेंशियल एमिनो एसिड दूसरे नान एसेंशियल एमिनो एसिड होते हैं। ''      

 उन्होंने बताया कि जो एसेंशियल एमिनो एसिडस होता हैं जिसको हम आहार से लेते है आहार से लिये जाने वाले एमिनो एसिड ट्रिप्टोफेन कहते है, ये ही हमारे अन्दर सिरोटोनीन का फारमेशन करता है यदि हम ट्रिप्टोफेन पाये जाने वाला भोजन ले तो सिरोटोनिन की मात्रा सामान्य से अधिक हो जाएगी तब डिप्रेशन , एन्ग्जाईिट, ओसीडी जैसी बीमारी नही होगी हम हर हाल में खुश रहने लगेंगे।

योग गुरू ने बताया कि ऐसी डायट जिसमें प्रचुर मात्रा मे ट्रिप्टोफेन पाया जाता है वह है अनानास, केला, टमाटर , पनीर, दूध , सुखे मेवे , बदाम, अखरोट आदि यदि इन चीजो का सेवन किया जाए तो घबराहट, उदासी, तनाव से मुक्ति मिल जाएगी। योग गुरू ने बताया कि इसके अतिरिक्त ध्यान योग भी सिरोटोनीन को स्टुम्यूलेट करता है जिससे इसकी मात्रा बढ़ती है जिससे हमारे जीवन में ख़ुशी आती है। इसको खुशी पैदा करने वाला हारमोन भी कहा जाता है। 

 


Moulshree Tripathi

Related News