आशीष वत्स को CM योगी के मंच से उतारने पर भड़का ब्राह्मण महासंघ, आंदोलन की दी चेतावनी

punjabkesari.in Friday, Sep 24, 2021 - 05:56 PM (IST)

ग्रेटर नोएडा: बीते बुधवार को ग्रेटर नोएडा के दादरी में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ के द्वारा किया गया था। वहीं  कार्यक्रम के दौरान मंच पर कुछ ऐसा हुआ जिसको लेकर राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ ने प्रदर्शन का ऐलान कर दिया है। दरअसल, बीते बुधवार को आयोजित कार्यक्रम में मंचासीन बीजेपी के क्षेत्रीय मंत्री आशीष वत्स को मंच से नीचे उतार दिया गया। जिससे ब्राह्मण महासंघ काफी आहत हो गया है। आरोप लगाया जा रहा है कि मंच पर आशीष वत्स  के साथ साजिश कर उन्हें अपमानित किया गया है। यह राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ इस अपमान को बर्दाश्त नहीं करेगा। इसे लेकर संगठन ने आंदोलन की चेतावनी दी है।
PunjabKesari
बता दें कि आशीष वत्स ने कार्यक्रम में मंच पर भाषण भी दिया  जिसके बाद मंच पर पहुंचे शिक्षक एमएलसी श्रीचंद शर्मा के लिए कुर्सी अपनी कुर्सी दे दी व स्वयं दूसरी कुर्सी पर बैठ गए। जिसके बाद आशीष वत्स सीएम को रिसीव करने गए व वापसी पर आकर देखा कि उनकी जगह पर महामेधा नागर बैठी हुई थी। ऐसे में आशीष 02 अन्य मंचासीन नेताओं के साथ सोफे पर बैठ गए।  सीएम सुरक्षा सचिव के द्वारा आशीष को मंच से उतार दिया गया।
PunjabKesari
बताया जा रहा है कि महामेधा नागर को मंच पर स्थान नही दिया गया था। यह भी कहा जा रहा है कि आशीष वत्स को मंच से हटाते वक्त कई ऐसे लोग मंच पर मौजूद थे जिनके लिए मंच पर स्थान नही था। भाजयुमो जिलाध्यक्ष राज नागर, गजेंद्र मावी, संजय बाली, हरेंद्र नागर, सोमेश गुप्ता व अन्य 2-3 लोग मंच का पास न होने के बावजूद मंच पर मौजूद थे। ऐसे में आशीष वत्स को मंच का पास होने के बावजूद मंच से हटाना षड्यंत्र प्रतीत होता है।

राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ के जिला अध्यक्ष प्रिंस पंडित लखनावली ने इस संबंध में बात करते हुए बताया कि आशीष वत्स जी ने पहले मंच से भाषण दिया। आशीष जी सीएम को रिसीव करने भी गए थे। मंच का पास होने के बावजूद उन्हें मंच से उतार देना ये किसी बड़े षड्यंत्र की तरफ इशारा करता है। आशीष वत्स प्रकरण को लेकर जो भी व्यक्ति षड्यंत्र में लिप्त पाया जाता है उसका नाम बहुत ही जल्द सार्वजनिक किया जाएगा। जिले में उसके पुतले राष्ट्रीय फूंके जाएंगे। प्रिंस पंडित ने आगे कहा कि आशीष वत्स प्रकरण से पूरे ब्राह्मण समाज का अपमान हुआ है।  मैं इसकी घोर निंदा करता हूं। इस समय दलों की परवाह न करते हुए सभी नेता व कार्यकर्ताओं को एक मंच पर आकर एकता का परिचय देते हुए इस प्रकरण में अपनी आवाज उठानी चाहिए।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static