बेसिक शिक्षा विभाग की बड़ी लापरवाही: जान जोखिम में डाल खेल कार्यक्रम में पहुंचने को मजबूर मासूम बच्चे

punjabkesari.in Saturday, Nov 19, 2022 - 10:40 AM (IST)

कुशीनगर(अनूप कुमार): बेसिक शिक्षा विभाग की बड़ी लापरवाही के चलते अपनी जान हथेली पर लेकर जिला खेल प्रतियोगिता में भाग लेने प्रतिभागियों को जाना पड़ा। मासूम छात्रों के भविष्य के साथ इतना बड़ा खिलवाड़ कोई अन्य नहीं बल्कि शिक्षा विभाग के जिम्मेदार ही कर रहे है, जिन्हें इन मासूमों को सुरक्षित स्कूल से ले आने और ले जाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। हालांकि इस पूरे मामले पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने छात्रों के आने जाने के लिए संबंधित क्षेत्र के खंड शिक्षा अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी जाने की बात कही है। लेकिन जब ट्रैक्टर ट्राली और पिकअप वैन से बच्चों को लाने की जानकारी दी गई तो मामले की जांच कर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की बात कही।

PunjabKesariशिक्षा विभाग द्वारा जनपद में स्तरीय बाल खेल प्रतियोगिता का किया गया आयोजन
दअरसल कुशीनगर जिलामुख्यालय स्थित जिला स्टेडियम में बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा जनपद स्तरीय बाल खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया हैं। प्रतियोगिता का शुभारम्भ जिलाधिकारी और मुख्य विकाश अधिकारी की मौजूदगी में मशाल जलाकर किया गया। प्रतियोगिता में सम्मलित होने के लिए पूरे जिले से छात्रों का चयन ब्लाक वार किया गया। अपने अपने ब्लाक से  चयनित छात्रों को प्रतियोगिता स्थल तक लाने के लिए प्रत्येक विकास के खंड शिक्षा अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी सौंपी थी। लेकिन अपनी जिम्मेदारियों से लापरवाह ये अधिकारी बीते महीने यूपी के तीन जिलों में हुए ट्रैक्टर-ट्रॉली के बड़े हादसे से अधिकारियों ने सबक नहीं लिया।

PunjabKesariहादसों को देखते हुए CM योगी ने जारी किए सख्त निर्देश
उत्तर प्रदेश में कुछ महीने पहले लखनऊ, फिर लखीमपुर और कानपुर में हुए ट्रैक्टर-ट्रॉली हादसे और दर्जनों लोगो की मौत ने झकझोर का रख दिया। हादसे को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त निर्देश भी जारी किया कि सवारियों के लिए ऐसे वाहनों का इस्तेमाल पर रोक लगाई जाए। इसके बाद यातायात विभाग ने ट्रैक्टर-ट्रॉली व पिकअप से सवारियों को ले जाने पर रोक लगा दी। लेकिन इसका असर कुशीनगर जिले में दिखाई नहीं दे रहा तभी तो बच्चों की जिंदगी दाव पर लगा कर जिमेदार अधिकारी बच्चों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहे है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Anil Kapoor

Related News

Recommended News

static