कोरोना टेस्टिंग को एक लाख प्रति दिन किए जाने की जरूरत: CM योगी

punjabkesari.in Saturday, Jul 25, 2020 - 09:42 AM (IST)

लखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना को हराने के लिये टेस्टिंग की सीमा एक लाख प्रति दिन करने के लिए एक विस्तृत कार्ययोजना पर काम करना होगा। अनलॉक समीक्षा बैठक में योगी ने कहा कि 30 लाख से अधिक आबादी वाले जिलों में प्रति दिन रैपिड एंटीजेन विधि से 2000 टेस्ट हर रोज करने चाहिए, जबकि इससे कम आबादी वाले जिलों में एक हजार टेस्ट प्रति दिन किये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आरटीपीसीआर विधि से हर रोज 35 हजार टेस्ट किये जाने चाहिेए।

लखनऊ, गाजियाबाद, कानपुर, वाराणसी, गोरखपुर, प्रयागराज और बलिया में विशेष सावधानी बरते जाने की हिदायत देते हुए योगी ने कहा कि इन जिलों में डोर टू डोर स्क्रीनिंग कार्यक्रम संचालित किया जाये। उन्होने अधिकारियों से कहा कि वे टेस्टिंग किट,दवा,वेंटलेटर्स और अन्य जरूरी चिकित्सीय जरूरतों की समय समय पर समीक्षा कर उन्हे पूरा करने का उपाय करें।

उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन निजी अस्पतालों को कोविड अस्पताल में तब्दील करने के लिये जरूरी कदम उठायें। उन्होने इस संबंध में सभी जरूरी प्रक्रियायें समयबद्ध तरीके से पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि एनसीसी कैडेट और सिविल डिफेंस के लोगों को कंटेटमेंट जोन के प्रबंधन के लिये लगाया जा सकता है। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static