उफनती नारायणी नदी के बीच नाव का डीजल टैंक फटने से फेल हुआ इंजन, कड़ी मशक्कत के बाद बचाए गए फंसे 200 लोग

punjabkesari.in Friday, Jun 18, 2021 - 09:48 AM (IST)

कुशीनगरः उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में शाम लगभग सात बजे नाव से बडी गण्डक नदी पार कर रहे लगभग 2 सौ लोग  उफनती नदी के बीच में फंस गए। नाव का डीजल टैंक फटने से इंजन फेल हो गया। तकनीकी खराबी के चलते नाव नदी के बीच धारा में फंस गई। करीब पांच किमी बहकर नदी की बीच धारा में नाव संपूर्णानगर गांव के सामने धारा में रुकी, आसपास के ग्रामीणों के सहायता से नाव पर सवार लोगों को दूसरी छोटी नावों से देर रात को बाहर निकाला गया। राहत की बात है कि सभी को बचा  लिया गया है। 

इधर घटना की सूचना मिलने पर देर रात्रि पहुँचे जिलाधिकारी व एसपी ने घटना स्थल का जायजा और नदी की बीच धारा में फंसे लोगों को रेसक्यू कर निकालने का काम शुरू करा दिया...डीएम ने एनडीआरएफ व एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुचने की बात कही, वही एसपी ने नाव में फंसे लोगों से फोन से बात कर उन्हें निकलवाने का आश्वासन दिया पूरी रात चला बचाव कार्य जारी रहा।

बता दें कि कुशीनगर के बरवापट्टी थाना क्षेत्र के नदी के उत्तर तरफ बसे अमवाखास के टोला भगवानपुर, बनरही, सम्पूर्णा नगर, किशुनवा, बक्सर रेता क्षेत्र में दक्षिण तरफ के किसान खेती करने गए थे....ग्रामीण अपना खेत देखकर बड़ी नाव से शाम करीब सात बजे अपने घर वापस आ रहे थे कि उसी दौरान इंजन का डीजल पाइप फट गया। नाव पर सवार लगभग 200 ग्रामीण नाव के साथ बहने लगे, वहीं नाव पर सवार ग्रामीणों मे चीख पुकार मच गई ....देखते ही देखते नाव लगभग पांच किलोमीटर तक बहते हुए अमवा दीगर के सम्पूर्णनगर टोले के पास जाकर बीच नदी में रुकी, इससे फंसे नाव में सवार 2 सौ ग्रामीणों की जान खतरे में पड़ गई। आगे बता दें कि सभी लोगों को ग्रामीणों की सहयोग व मुस्तैदी से निकाल जा चुका है। घटना की सूचना मिलने पर देर रात्रि मौके पहुंचे डीएम एस राजलिंगम व एसपी सचिंद्र पटेल ने नदी के बीच धारा में फंसे लोगों से फोन से बात करते हुए जल्द-जल्द निकलवा ने का आश्वासन दिया था। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static