सपा के पूर्व विधायक दीपनारायण यादव की 130 करोड़ की संपत्ति कुर्क, अब बेनामी संपत्तियों को खंगाल रही पुलिस

punjabkesari.in Monday, Nov 28, 2022 - 11:38 AM (IST)

झांसी (शहजाद खान): समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक दीपनारायण सिंह यादव की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। पुलिस ने दीपनारायण सिंह पर गैंगस्टर एक्ट तहत कार्रवाई करते हुए उनकी 130 करोड़ रुपए की संपत्ति को कुर्क कर दिया है। जानकारी के अनुसार जो संपत्ति कुर्क की गई है, वह अपराध के जरिए अर्जित की गई थी। इतना ही नहीं, अब पुलिस दीपनारायण की बेनामी संपत्तियों को खंगाल रही है।
PunjabKesari
बता दें कि दीप नारायण सिंह यादव पर पहला मुकदमा कुख्यात अपराधी लेखराज सिंह यादव को पुलिस कस्टडी से छुड़ाए जाने की साजिश में शामिल होने का आरोप लगने के बाद दर्ज किया गया था और उन्हें जेल भेजा गया था। इसके बाद उनके खिलाफ कई और मुकदमे कायम हुए। दरअसल पुलिस ने दीपनारायण सिंह के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई करने के बाद जिलाधिकारी ने उनकी 130 करोड़ की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश दिया था।
PunjabKesari जिसके चलते नगर मजिस्ट्रेट तथा एसपी सिटी की अगुवाई में पुलिस तथा प्रशासन का अमला दीप नारायण सिंह यादव के मेडिकल कॉलेज के पास स्थित जमीन पर पहुंचा और दीप नारायण की सारी संपत्ति को कुर्क कर लिया गया। इसके अलावा सिटी के आसपास सहित कई और इलाकों में भी उनकी संपत्ति को कुर्क किया गया है। बता दें कि दीप नारायण सिंह यादव वर्तमान में झांसी जिला कारागार में निरुद्ध हैं।
PunjabKesari
क्या कहती है पुलिस?
इस बारे में जानकारी देते हुए एसएसपी राजेश ने बताया है कि नवाबाद थाना में करीब एक माह पहले पूर्व विधायक दीपनारायण यादव समेत अन्य लोगों पर गैंगस्टर एक्ट का मुकदमा दर्ज हुआ था। उन्होंने अपराध करके संपत्ति अर्जित की है। जिलाधिकारी के आदेश पर एसपी सिटी राधेश्याम राय के नेतृत्व में तहसीलदार डॉ. लालकृष्ण की टीम ने करगुवांजी, भगवंतपुरा और वनगुवां मौजे में जमीन कुर्क की है। जिसकी कीमत लगभग 130 करोड़ रुपए है।
PunjabKesari एसएसपी राजेश ने आगे बताया कि दीपनारायण यादव पर अब तक कुल 58 मामले दर्ज हैं। करीब ढाई माह पहले पेशी पर आए कुख्यात लेखराज यादव को पुलिस कस्टडी से छुड़ाने की कोशिश हुई थी। इस मामले में 26 सितंबर को पुलिस पूर्व विधायक को गिरफ्तार किया था।
PunjabKesari
पूर्व विधायक पर 3 महीने में 7 मुकदमे:-
-
पूर्व विधायक दीपनारायण पर 30 जुलाई को विजिलेंस थाना में आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज हुआ था। आरोप है कि विधायक रहते हुए उनको 14 करोड़ 30 लाख 31444 रुपए की आय हुई, जबकि इस अवधि में उनका खर्च 37 करोड़ 32 लाख 55844 रुपए पाया गया।
- 16 सितंबर को कुख्यात अपराधी लेखराज यादव पेशी पर झांसी आया था। आरोप है कि उसको पुलिस कस्टडी से छुड़ाने की कोशिश की गई। षड़यंत्र में पूर्व विधायक शामिल बताये गए। पूर्व विधायक, विष्णु राय समेत 19 लोगों को गिरफ्तार किया गया।
- तीसरा केस मोंठ थाने में दर्ज हुआ। पुलिस का दावा है कि लेखराज को छुड़ाने की कोशिश में इस्तेमाल गाड़ी बरामद करने गए थे। वहां पुलिस पर फायरिंग की गई। इस केस में पूर्व विधायक दीपनारायण, उसके साले समेत कई लोगों को आरोपी पाए गए।
- 30 सितंबर को नवाबाद थाने में पूर्व विधायक दीपनारायण समेत 17 लोगों पर एक केस दर्ज हुआ। इसमें एक युवक का अपहरण कर उससे केस में जबरन राजीनामा करवाने का आरोप लगा।
- 26 अक्टूबर की रात नवाबाद थाना में गैंगस्टर एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ। इसमें पूर्व विधायक दीपनारायण सिंह यादव, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विष्णु राय समेत 19 लोगों को आरोपी बनाया गया है।
- हाल में ही दीपनारायण के खिलाफ ईडी में भी एक केस पंजीकृत किया गया है।कुछ दिन पहले गरौठा के भाजपा विधायक जवाहरलाल राजपूत को एक धमकी भरा पत्र मिला। इसमें भी दीपनारायण सिंह यादव को आरोपी पाया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Harman Kaur

Related News

Recommended News

static