गोंडा के जिला बेसिक अधिकारी डॉ. इंद्रजीत प्रजापति निलंबित, जानिए क्या है पूरा मामला

punjabkesari.in Friday, Feb 26, 2021 - 01:53 PM (IST)

गोंडा: उत्तर प्रदेश में गोंडा जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी को अंतर्जनपदीय शिक्षक ट्रांसफर रिलीविंग वसूली मामले में राज्यपाल के आदेश पर अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने निलंबित कर विभागीय जांच के आदेश दिए हैं। अधिकारिक सूत्रों ने कहा कि अंतर्जनपदीय शिक्षक ट्रांसफर रिलीविंग वसूली मामले में प्रकाश में आई बीएसए की संदिग्ध भूमिका की जांच के लिए जिलाधिकारी माकर्ण्डेय शाही द्वारा लिखे पत्र को संज्ञान में लेकर मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक लखनऊ मंडल को पूरे मामले की जांच सौंपी।

प्राथमिक जांच में पाया गया कि जनपद गोंडा में शिक्षका के अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण के उपरान्त उनके रिलीविंग में सम्बन्धित शिक्षकों से अवैध रूप से धनराशि की वसूली की गई। अध्यापकों को कार्यमुक्त किए जाने सम्बन्धी पत्रावली जानबूझ कर समय से तैयार नहीं की गई तथा अनावश्यक रूप से विलम्ब कर धनराशि की वसूली का आधार तैयार किया गया।

खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय से प्राप्त पत्रावलियों का जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में किसी रजिस्टर पर दर्ज नहीं होने के साथ सम्बन्धित कार्यवृत्त बिना डिस्पैच नम्बर के जारी किया गया है। इसके अलावा 1085 अध्यापकों के सापेक्ष 400 अध्यापकों को कार्यमुक्त किया गया। लापरवाही बरतने के आरोप में राज्यपाल की संस्तुति पर सरकार ने बीएसए को निलंबित कर दिया। उन्होंने कहा कि इस सिलसिले मे वजीरगंज ब्लाक मे तैनात खंड शिक्षा अधिकारी ममता सिंह समेत 4 शिक्षकों पर भी गाज गिर चुकी है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil Kapoor

Related News

Recommended News

static