पीड़िता की दास्तां: 11 साल की उम्र से लगातार बलात्कार... हर दिन बदलते रहे ग्राहक, पिता, भाई, नेताओं सहित 28 पर आरोप

10/12/2021 8:03:53 PM

ललितपुर: उत्तर प्रदेश के ललितपुर से दिल को झकझोर कर रख देने वाली घटना सामने आई है। यहां पिता ने बाप बेटी के पवित्र रिश्ते को कलंकित कर समाज को शर्मसार कर दिया है। दरअसल, नाबालिग युवती ने अपने ही पिता, भाई, सफेद पोस नेताओ सहित कई अन्य लोगों पर बलात्कार का आरोप लगाया है। युवती का आरोप है कि आरोपित काफी समय से उसका शोषण कर रहे हैं। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने पिता, भाई, सपा-बसपा जिलाध्यक्ष, जूनियर इंजीनियर सहित 28 लोगों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। शिकायत के बाद पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल कराया और उसकी सुरक्षा बढ़ा दी है। मामला प्रकाश में आने से जिले में हड़कंप मच गया है।
 
PunjabKesari
पीड़िता की तहरीर पढ़ कांप जाएगी आपकी रुह
पीड़िता ने पुलिस को दिए तहरीर में कहा है कि उसकी मौजूदा उम्र 17 साल है, और जब वो कक्षा 6 में थी तब उसके पिता ने 11 साल की उम्र में उसे मोबाइल से गंदी वीडियो दिखाए और उसके साथ बेरहमी से बलात्कार किया। साथ ही कहा कि अगर मम्मी से बताई तो वह उसकी मम्मी को जान से मार देंगे। शुरू में तो ये सिलसिला पिता तक ही सीमित था, लेकिन बाद में पिता उसे अन्जान लोगों के साथ परोसना शुरू कर दिया है। पीड़िता के अनुसार, जब भी उसके पिता स्कूल से उसे लेने आते तो हर रोज उसे एक दूसरे आदमी के साथ जाना पड़ता और वह नशीली दवाईंया खिलाकर उसके साथ बेरहमी से बलात्कार करता। युवती जब भी स्कूल से घर आती तो उसकी मां बेहोश मिलती।

सपा-बसपा जिलाध्यक्ष ने भी किया बलात्कार
पीड़िता ने बताया कि जब वह पिता से पूंछती कि उसके साथ क्या हो रहा है, तो वह मुझे और मां को जान से मारने की धमकी देकर चुप करा देते और कहते कि जो कहा है वो करो... सवाल-जवाब नहीं। फिर एक दिन उसके पिता ने सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव को उसे परोस दिया और उसने तो हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए बलात्कार किया। इतना ही नहीं बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार ने भी बल्ताकार किया। उसके बाद वह जहां भी गई चाहे वह, बड़े ताऊ का घर हो, मंझले ताऊ... चाचा का घर हो, सभी ने बलात्कार ही किया। पीड़िता ने पुलिस को दिए तहरीर में आरोपियों पर कार्रवाई न होने पर आत्महत्या की भी धमकी दी है।

PunjabKesari
वहीं पीड़िता से पूछताछ करने एवं मामले का गहनता से परीक्षण करने के लिए अपर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में टीम गठित कर जांच शुरू कर दी गई है। पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराया गया 164 सीआरपीसी के अन्तर्गत मजिस्टेट के समक्ष बयान कराने की कार्यवाही की जा रही है। मामले में विवेचना करने कि लिए जय प्रकाश चैबे प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ललितपुर को सौंपी गई है।   

बता दें कि नाबालिग पीड़िता की शिकायत पर थाना कोतवाली ललितपुर में मु0अ0सं0 860/21 धारा 354/376डी/323/328/506/120बी आईपीसी व लैगिंक अपराधों से बालको का संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 5 व 6 के अन्तर्गत केस दर्ज किया गया है। जिसमें युवती ने पिता राजेन्द्र अग्रवाल, भाई अज्ञात, तिलक यादव, राजू यादव, महेन्द्र यादव, अरविन्द यादव, प्रबोध तिवारी, सोनू समैया, राजेश जैन झोझिया, महेन्द्र दुबे, नीरज तिवारी, महेन्द्र सिंघई, दीपक अहिरवार, कोमलकान्त सिंघई, मझला ताऊ नाम अज्ञात, बडे़ ताऊ का लड़का नाम अज्ञात, तीन चाचा नाम अज्ञात, बड़ी ताई श्यामा अग्रवाल, पप्पू अग्रवाल, मुन्ना अग्रवाल, आकाश अग्रवाल, महक अग्रवाल, बन्टी अग्रवाल, नीतू अग्रवाल, शरद अग्रवाल, मंजू अग्रवाल, एक और औरत अज्ञात, एक आदमी नाम अज्ञात, एक लड़का नाम अज्ञात (कुल 28 लोग) के विरूद्ध अभियोग पंजीकृत कराया गया है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Recommended News

static