JP नड्डा का अखिलेश पर तंज- UP में अब किसी परिवार का नहीं बल्कि कानून का राज

punjabkesari.in Monday, Feb 28, 2022 - 07:14 PM (IST)

जौनपुर/मिर्जापुर: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने समाजवादी पार्टी (सपा) पर आतंकवादियों और माफिया तत्वों को प्रश्रय देने का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में अब कानून का राज चलता है, किसी परिवार या व्यक्ति विशेष का नहीं।

नड्डा ने जौनपुर और मिर्जापुर में भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित चुनावी सभाओं को संबोधित किया। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा मुखिया अखिलेश यादव अपने मुख्यमंत्रित्व काल में आतंकवादियों को संरक्षण देते थे। उन्होंने कहा कि उनके मुकदमें वापस लेते थे लेकिन वर्ष 2017 में प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद ऐसे तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हुई है। नड्डा ने दावा किया कि प्रदेश में अब कानून का राज चलता है, किसी परिवार या व्यक्ति विशेष का नहीं।

भाजपा अध्यक्ष ने दावा किया, "अपने कार्यों का रिपोर्ट कार्ड जनता के बीच लेकर जाने की ताकत भाजपा के सिवा किसी और दल के नेताओं में नहीं है। जो कहा था, वो किया है। जो कहेंगे, वो करेंगे, ये ताकत सिर्फ भाजपा में है। गांव, गरीब, वंचित, पीड़ित, शोषित, समाज के अंतिम पायदान पर खड़ा व्यक्ति, महिलाएं, युवा, किसान की चिंता करने वाली अगर कोई पार्टी है तो वह भाजपा है।" उन्होंने अखिलेश यादव पर कोविड-19 रोधी वैक्सीन को भाजपा का टीका बताते हुए लोगों को भड़काने का आरोप लगाया और कहा कि जब खुद जरूरत पड़ी तो अखिलेश ने टीका लगवा लिया।

भाजपा शासनकाल में मझवा में हुए विकास की चर्चा करते हुए नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मझवा में 42000 आवास बने हैं और 67000 लोगों को बिजली का कनेक्शन दिया गया है जिन्हें 24 घंटे बिजली मिलती है। गरीबों को मुफ्त में खाद्यान्न योजना देने की चर्चा करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा "हम भाषण नहीं देते। हम राशन पहुंचाते हैं और योगी जी ने तो राशन के साथ ही नमक, तेल और चना भी उपलब्ध कराया है जिससे गरीबों को भरपूर पोषण मिले।"

आयुष्मान योजना की चर्चा करते हुए नड्डा ने कहा कि लोग पहले विधायक और सांसद मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर राहत सहायता कोष से इलाज के लिए धन उपलब्ध करवाने के लिए गुहार लगाते थे और अब इस योजना से किसी के पास दौड़ने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि कार्ड के माध्यम से पांच लाख रुपये तक का इलाज हो जाता है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static