जौनपुर में बोले अखिलेश यादव- यूपी में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त, जंगलराज कायम

2/26/2021 10:32:50 AM

जौनपुर: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गई है। रोज हत्या, लूट और बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं। सरकार इसको रोकने में पूरी तरह विफल साबित हो रही है। सपा अध्यक्ष यहां बक्शा थानांतर्गत ग्राम चकमिर्जापुर पकड़ी के पुजारी यादव की पुलिस हिरासत में मौत पर शोक संवेदना प्रकट करने के बाद पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने पुजारी यादव के परिजनों को न्याय का भरोसा दिलाया और राज्य सरकार से 20 लाख रूपए की आर्थिक मदद देने की मांग की है।

उन्होंने कहा कि मृतक पुजारी यादव को गत 11 फरवरी को लगभग 3 बजे दिन में पुलिस घर आई और पकड़ कर थाने ले गई जबकि उसके खिलाफ किसी भी थाने में कोई मुकदमा दर्ज नहीं है। रात्रि 8 बजे पुन: थाना बक्शा के एसओ आए और घर में घुस कर नकद रुपए, औरतों के गहने व अन्य जरूरी सामान उठाकर ले गए। उन्होंने पुजारी यादव की हिरासत में हुई मौत के लिए प्रदेश सरकार को दोषी ठहराते हुए दोषी पुलिसजनों को तत्काल गिरफ्तार करने की भी मांग की।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लोकतांत्रिक व्यवस्था और संस्थानों का जितना नुकसान किया है उतना किसी ने नहीं किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार का सब कुछ झूठा फसाना है, इसका काम नफरत फैलाना है। राजनीतिक लोगों पर मुकदमा लगाना है। लोकतंत्र में इतना झूठ कोई नहीं बोला जितना भाजपा ने बोला है। भाजपा उत्तर प्रदेश की जनता का अपमान कर रही है। इसके कामकाज से समाज का हर वर्ग निराश है। जनता को धोखा दिया गया है। भाजपा सरकार अब जाने वाली है, वह अपनी विदाई को तैयार है।

उन्होंने कहा कि योगी सरकार का बजट आम लोगों को धोखा देने वाला है। इसमें गरीब, बेरोजगार और किसानों के लिए कुछ नहीं है, केवल उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाया गया है। किसान धरना प्रदर्शन कर रहा है लेकिन सरकार उनकी नहीं सुन रही है। सरकार केवल जाति, धर्म और द्वेष फैलाकर अपनी राजनीति कर रही है। लोगों को मूल मुद्दों से भटकाने के लिए जाति और धर्म के मामलों में उलझा कर रख दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा  कि भाजपा सरकार ने लोगों के लिए नौकरी, रोजगार की कोई व्यवस्था नहीं बनाई। लोग बेरोजगार हो घूम रहे हैं। नौकरियां भी लोगों की समाप्त कर दी गई। ये सरकार जब गंगा माँ की नहीं हुई तो हमारी-आपकी क्या होगी। गंगा साफ नहीं हुई बल्कि गंगा सफाई का बजट साफ हो गया।


Content Writer

Anil Kapoor

Related News