Magh Purnima 2024: माघी पूर्णिमा का स्नान पर्व आज, आस्था की डुबकी लगाने के लिए उमड़ा श्रद्धालुओं का जनसैलाब

punjabkesari.in Saturday, Feb 24, 2024 - 11:48 AM (IST)

Magh Purnima 2024: आज शनिवार यानी 24 फरवरी को माघ मास की पूर्णिमा तिथि है। शास्त्रों में माघ मास का बड़ा ही महत्व बताया गया है। आज गंगा यमुना और अदृश्य सरस्वती के संगम पर माघी पूर्णिमा का स्नान पर्व है। एक महीने तक चलने वाले कल्पवास का आज समापन माघ पूर्णिमा स्नान पर्व से हो गया है। हालांकि कुछ श्रद्धालु परसो त्रिजटा स्नान पर्व तक कल्पवास करेंगे।
PunjabKesari
बता दें कि माघ पूर्णिमा स्नान पर्व माघ मेले का पांचवा स्नान पर्व है और आज के दिन भी लाखों की संख्या में श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगा रहे हैं। पौष पूर्णिमा से शुरू हुआ कल्पवास भी माघी पूर्णिमा के स्नान पर्व के साथ खत्म होता है। इसलिए स्नान पर्व को कल्पवासियों का स्नान पर्व भी कहा जाता है। आज के दिन का महत्व यह भी है कि आज के दिन भगवान विष्णु भी गंगा में अदृश्य रूप से स्नान करते हैं। जितने भी श्रद्धालु आज आस्था की डुबकी लगाते हैं। उनको वो आशीर्वाद देते हैं और सभी श्रद्धालुओं की मनोकामना भी पूरी होती है।
PunjabKesari
सुबह से ही बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने संगम के तट पर मोक्ष की कामना से आस्था की डुबकी लगा रहे है और अगले साल फिर से इस रेती पर आने का संकल्प भी ले रहे है। माघी पूर्णिमा स्नान के साथ ही श्रद्धालुओं का एक महीने का कल्पवास का संकल्प भी पूरा हो गया। 54 दिनों तक माघ मेले में पड़ने वाले अब तक पांच प्रमुख स्थानों में लाखों श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई है।

PunjabKesari

शास्त्रों में ऐसी मान्यता है कि जो भी भक्त एक महीने गंगा यमुना और सरस्वती की त्रिवेणी में कल्पवास करता है उसके कई जन्मों के पाप धुल जाते है और वो मोक्ष पाता है। साथ ही उसे कई अश्वमेघ यज्ञ के बराबर पुण्य फल की प्राप्ति होती है। वहीं, त्रिवेणी में स्नान करने से भक्तों को मोक्ष की प्राप्ति होती है।
PunjabKesari
सुबह से ही श्रद्धालुओं का जनसैलाब देखने को मिला, श्रद्धालु स्नान के बाद दान भी दे रहे है। देश के कोने-कोने से आए श्रद्धालुओं का कहना है कि अधिकारियों ने कड़ी मेहनत करके माघ मेले को अब तक सफल बनाया है। आज भी सुरक्षा को लेकर के चाक चौबंद बंदोबस्त किए गए हैं। स्नान घाट पर भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है और महिलाओं के लिए चेंजिंग रूम की भी बेहतर सुविधा हैं।
PunjabKesari
वहीं, एसएसपी मेला राजीव कुमार मिश्रा का कहना है कि हर श्रद्धालु पर पैनी नजर रखने के लिए जगह-जगह पर पुलिस फोर्स तैनात है और सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन कैमरे के साथ-साथ पैरामिलिट्री फोर्स की मदद से सुरक्षा व्यवस्था को और दुरुस्त किया गया है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Harman Kaur

Recommended News

Related News

static