राम मंदिर पर ओवैसी के बयान पर भड़के मोहसिन रजा, बोले- ये हैं संविधान की दुहाई देने वाले

punjabkesari.in Friday, Aug 07, 2020 - 02:13 PM (IST)

लखनऊः राम मंदिर पर बयान देकर AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने बखेड़ा खड़ा कर दिया है। वहीं अब इस पर योगी सरकार में मंत्री मोहसिन रजा ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि देश में संविधान की दुहाई देने वाले नेता आज संविधान पर सवाल उठा रहे हैं? ये नेता आज देश का माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। ये ही नेता पिछले साल 9 नवंबर को फैसला आने से पहले जब इनसे कहा जाता था कि बैठकर बात कर लीजिए तो ये कहते थे कि नहीं, हमें तो वही फैसला मंजूर होगा, जो माननीय न्यायालय से आएगा।

मोहसिन रजा ने कहा कि अब जब पिछले साल 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया और उस फैसले को देश की जनता ने सौहार्दपूर्ण माहौल में स्वीकार किया। उसी फैसले के क्रम में अगर अयोध्या में लेकर कोई काम शुरू हुआ तो उस काम को लेकर फिर आज आप उंगली उठा रहे हैं। संविधान पर उंगली उठा रहे हैं, उस फैसले पर उंगली उठा रहे हैं, देश में सौहार्द का माहौल खराब कर रहे हैं।

मोहसिन रजा ने पूछा कि आप करना क्या चाहते हैं? उन्होंने कहा कि ऐसी शक्तियों से कहना चाहता हूं कि आप 130 करोड़ लोगों के नुमाइंदे नहीं हैं, आप मुसलमानों को रिप्रेजेंट नहीं करते। आपकी व्यक्तिगत सोच हो सकती है लेकिन सभी लोगों ने देश के सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को कुबूल किया है और उसके तहत अगर कोई काम हो रहा है, उसमें कोई भी इस तरह की टिप्पणी करेगा तो वो राष्ट्रद्रोही भी होगा और देशद्रोही भी।

बता दें कि अयोध्या में भूमिपूजन पर एआईएमआईएम (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने भी कहा कि वहां बाबरी मस्जिद थी, है और रहेगी। वहीं मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा है कि बाबरी मस्जिद कल भी थी, आज भी है और कल भी रहेगी। हागिया सोफिया इसका बेहतरीन उदाहरण है। मस्जिद में मूर्तियां रख देने, पूजा-पाठ शुरू कर देने या एक लंबे अर्से तक नमाज पर पाबंदी लगा देने से मस्जिद की हैसियत खत्म नहीं हो जाती। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static