औरैया में वैक्सीनेशन अभियान के प्रति लापरवाही, दो MOIC का वेतन रोकने का आदेश

5/10/2021 10:14:51 AM

औरैया: उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में वैक्सीनेशन अभियान के प्रति लापरवाही बरतने वाले दो चिकित्सा अधिकारियों (एमओआईसी) का वेतन रोकने के आदेश दिये गये हैं।जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने रविवार को निगरानी समितियों को और अधिक प्रभावी बनाने एवं वैक्सीनेशन की गति को और अधिक बढ़ाने को लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कलेक्ट्रेट सभागार में वैक्सीनेशन पर सीएचसी वार समीक्षा करने पर उन्होंने पाया कि अयाना और एरवाकटरा सीएचसी पर वैक्सीनेशन कम हुआ, इस पर उन्होंने अधीक्षक (एमओआईसी) का वेतन रोकते हुए उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। साथ ही वैक्सीनेशन को गंभीरता से ना लेने पर डीपीएम एवं बीपीएम अजीतमल का वेतन रोकते हुए कारण बताओ नोटिस जारी करने को कहा।

उन्होंने सभी बीपीएम को नोटिस जारी कर निर्देश दिए कि यदि एक हफ्ते के अंदर वैक्सीनेशन नही बढ़ाया गया तो सेवा समाप्त कर दी जाएगी। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी अर्चना श्रीवास्तव को निर्देश दिए कि जो आशाएं सहयोग नहीं कर रही हैं उनकी सूची बनाकर सेवा समाप्ति की जाए। एसडीएम को निर्देश दिए कि वह निगरानी समितियों, प्रधान, लेखपाल, सचिव, कोटेदार आदि के साथ ब्लाकों में बैठक कर गांवों में वैक्सीनेशन का प्रचार प्रसार करें और लोगों को टीका लगाने के लिए प्रेरित करें साथ ही मास्क सैनिटाइजर शारीरिक दूरी आदि का प्रचार प्रसार कराएं। उन्होंने एमओआईसी को निर्देश दिए कि वैक्सीनेशन के बारे में अफवाह फैलाने वाले झोलाछाप डॉक्टरों के बारे में एसडीएम को अवगत कराएं। एसडीएम ऐसे झोलाछाप डॉक्टरों पर कारर्वाई करें। 

वर्मा ने निगरानी समितियों को थर्मामीटर दिलाने और आरआरटी वाहनों द्वारा प्रचार-प्रसार कराने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी नगर पंचायतो और नगर पालिका एवं डीपीआरओ को निर्देश दिए गए क्षेत्रों में नियमित रूप से सैनिटाइजेशन फागिंग साफ सफाई का कार्य कराते रहें। जिलाधिकारी ने कहा कि ऐसे अस्पताल जो कोरोना मरीजों से अधिक रुपए वसूल रहे हैं एवं एंबुलेंस के लिये ज्यादा रुपए वसूल रहे हैं ऐसे अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Recommended News

static