सरकार की मंशा पर अधिकारी फेर रहे हैं पानी, कंडम एंबुलेंस के सहारे स्वास्थ्य सेवा को छोड़ा

punjabkesari.in Saturday, May 28, 2022 - 01:24 PM (IST)

कासगंज: उत्तर प्रदेश सरकार की मंशा है कि प्रदेश भर में स्वास्थ्य सेवा सशक्त हो सरकार इस दिशा में लगातार प्रयास भी कर रही है। स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक प्रदेशभर के अस्पतालों को आधुनिक चिकित्सा संसाधन मुहैया कर रहे हैं। वहीं केंद्र सराकर भी  स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं। लेकिन कुछ अधिकारी सरकार की मंशा पर पानी फेरने में लगे है।

PunjabKesari

कंडम एंबुलेंस के सहारे जिला अस्पताल की सेवा
दरअसल,  कासगंज जनपद की कुछ तस्वीरें सामने आई है जिसने स्वास्थ्य विभाग की पोल खोल कर रख दी है। जहां पर स्वास्थ्य विभाग की एंबुलेंस जमींदोज होने की कगार पर हैं।  स्थानीय लोगों के मुताबिक जिला अस्पताल के बाहर खड़ी एंबुलेंस यहां खड़ी की गई थी लेकिन स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही ने एंबुलेंस को कबाड़ा कर दिया।  इनमें लगे कीमती सामान शीशे तोड़कर चोर निकाल कर ले गए हैं। वहीं  एक लापरवाही और यहां देखने को मिली जहां पर कबाड़ हो चली एंबुलेंस में बड़ी तादाद में बताएं भी बिखरी पड़ी है हालांकि दवाई एक्सपायरी डेट की है और हो चुकी हैं लेकिन नियमों के मुताबिक यह दवाएं इस तरह फेंकना भी अपराध है। स्वास्थ्य विभाग के नियमों के मुताबिक एक्सपायर होने से 3 माह पहले कार्यदाई संस्था को वापस कर दी जाती है या फिर उसका प्रॉपर डिस्पोजल किया जाता है लेकिन स्वास्थ्य विभाग लापरवाह बना बैठा है। साफ तौर पर कासगंज में 10 एंबुलेंस ऐसी हैं जो स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते कबाड़ हो चली है।

PunjabKesari

अधिकारी बोले जांच के बाद होगी कार्रवाई
वहीं मामले में जब कासगंज के मुख्य चिकित्सा अधिकारी अनिल कुमार से बात की गई तो उन्होंने बताया कि कंडम एंबुलेंस की नीलामी की जाएगी।  एंबुलेंस जब ठीक थी तो उनको खड़ा क्यों कर दिया गया तो सीएम अनिल कुमार के पास कोई उत्तर नहीं था।  एक्सपायरी डेट की दवाओं को इस तरह फेंके जाने के मामले में भी उन्होंने कमेटी बनाकर जांच करने की बात कही है। अब इस कबाड़ एंबुलेंस के सहारे जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था कैसे चलेगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static