OMG: MNNIT के छात्र ने किया कमाल, गंगा की मिट्टी से पैदा की बिजली

punjabkesari.in Monday, Aug 17, 2020 - 06:38 PM (IST)

प्रयागराजः आज हम विज्ञान के युग में जी रहे हैं। दिन-प्रतिदिन के होते अविष्कारों ने हमें बहुत वैज्ञानिक बना दिया है। मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के होनहार शोधार्थी जितेन्द्र प्रसाद ने कमाल का शोध किया है। शोध गंगा की मिट्टी से बिजली उत्पादन की तकनीक विकसित कर संस्थान का नाम रोशन किया है। उन्हें इस अभिनव शोध के लिए प्रतिष्ठित गांधीवादी यंग टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन (ज्ञाति) अवार्ड 2020 के लिए चुना गया है।

बता दें कि दूर-दराज के क्षेत्रों में प्रकाश के लिए गंगा नदी की मिट्टी से बिजली उत्पादन करने के लिए यह अवार्ड जितेन्द्र को राष्ट्रपति के हाथों प्राप्त करने का गौरव मिलेगा। कोरोना महामारी की वजह से पुरस्कार समारोह की तारीख अभी तय नहीं हो सकी है। महत्वपूर्ण बात है कि इस तकनीकी से बिजली उत्पन्न करने में किसी तरह का प्रदूषण नहीं होता।

एमएनएनआईटी के निदेशक प्रो. राजीव त्रिपाठी ने बताया कि यह अभिनव शोध भविष्य में अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। प्रोफेसर रमेश कुमार त्रिपाठी के अधीन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग में 2016 से पीएचडी कर रहे जितेन्द्र का जन्म गाजीपुर के शक्करपुर गांव में हुआ था। इनके पिता रामकृत प्रजापति सेतु निगम में इलेक्ट्रिीशियन के पद से रिटायर हैं और मां गृहणी हैं। इनको शोध के दौरान भी इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी मंत्रालय की ओर से छात्रवृत्ति मिल रही है। जितेंद्र बीटेक, एमटेक और पीएचडी करने वाले अपने गांव के इकलौते होनहार छात्र हैं।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Author

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static