सैफई के विकास पर योगी की मेहरबानी बनी चर्चा का विषय, सपा ने कहा- उपचुनाव को लेकर दिखावा मात्र

9/26/2020 5:46:33 PM

इटावा: समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Former CM Akhileh Yadav) के गांव सैफई (Village Saifai) के विकास (Development) के प्रति मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की संजीदगी क्षेत्र के बाशिंदो को खूब भा रही है। वहीं क्षेत्र के राजनीतिक पंडितों के बीच यादव परिवार के गढ़ में भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार (Government) की मेहरबानी के निहितार्थ निकाले जाने लगे हैं।

बता दें कि योगी (Yogi) ने दो दिन पहले कानपुर मंडल (Kanpur) की समीक्षा बैठक में सैफई में चल रही विकास योजनाओं पर विशेष तवज्जो दी थी। समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी श्रुति सिंह की ओर से अगवत कराया गया कि इटावा में 50 करोड़ से अधिक की परियोजनाओं में लोक निर्माण विभाग की ओर से 97 करोड़ की लागत से सोनवारा बाईपास मार्ग तैयार किया गया है। इस पर पांच फीसद काम शेष रह गया है। सैफई में 500 बेडेड सुपर स्पेशियलिटी ब्लाक का निर्माण कार्य 83 फीसद पूर्ण कर लिया गया है। नवीन जिला कारागार का 86 फीसद काम पूरा है। शेष 14 फीसद काम तीन माह में पूरा हो जाएगा।

मुख्यमंत्री ने 176.77 करोड़ की लागत से सैफई में बन रहे 300 बेडेड गायनी अस्पताल का काम जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। इसके अलावा उन्होने अर्बन डबलपमेंट, मास्टर प्लान सैफई पर भी काम शुरू करने के निर्देश दिए। यह परियोजना दो साल से बंद पड़ी थी। सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में टाइप-5 के 100 आवासों पर जल्द काम पूरा करने के निर्देश दिए। 

सैपई पर योगी की विशेष रूचि समाजवादी वोटों में सेंधमारी की कोशिश मात्र
सपा का मानना है कि लंबित विकास योजनाओ को लेकर योगी की विशेष रूचि का कारण समाजवादी वोटों में सेंधमारी की कोशिश मात्र है। वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का मत है कि योगी सरकार सबका साथ सबका विकास के मूल मंत्र पर काम कर रही है और इसीलिए हर जिले की तरह सैफई की भी लंबित विकास योजनाओ को पूरा करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिये है।

मुख्यमंत्री की घोषणा दिखावा मात्र: तेज प्रताप 
सपा नेता और मैनपुरी के पूर्व सासंद तेजप्रताप सिंह यादव ने कहा कि सैफई की लंबित विकास योजनाओं को पूरा करने के पीछे मुख्यमंत्री का इमोशनल कार्ड प्रतीत नजर आ रहा है। सैफई की विकास योजनाएं समय पर पूरा नहीं हो सकी है। लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ी हुई जिन महत्वपूर्ण विकास योजाओं को 2018 में पूरा हो जाना था वो 2021 आने को होने पर भी पूरा नहीं हो सकी है। सैफई मे स्टेडियमों को निर्माण हो चुका है लेकिन अभी तक इसको विभाग को हैंड ओवर नहीं किया गया है। राज्य की कई सीटों पर उपचुनाव होने वाला है ऐसे मे मुख्यमंत्री की घोषणा दिखावा मात्र ही नजर आ रही है।


Umakant yadav

Related News