महंगे तरबूज का विरोध करना श्रमिक को पड़ा भारी, भरी बाजार में मार से आहत लगा ली फांसी

5/17/2020 8:36:44 PM

हरदोईः कोरोना संकट के मद्देनजर लागू लॉकडाउन में कई ऐसी खबरें आ रहीं हैं जिसमें दुकानदार तय मूल्यों से ज्यादा ग्राहकों से ऐंठ ले रहे हैं। ऐसे में एक श्रमिक को बाजार में महंगे तरबूज का विरोध करना इतना महंगा पड़ा कि उसे अपनी जान से जाना पड़ा। विरोध करने पर उसके गांव के ही युवक ने भरी बाजार में उसे तमाचा मार दिया। जिससे शर्मसार होकर उसने अपनी जिंदगी ही खत्म करने का निर्णय ले लिया। जान देने के पहले उसने अपनी लाचारी का वीडियो बनाया और फिर फांसी लगा ली।

बता दें कि मामला मझिला थाना क्षेत्र का है। जहां अंतोरा निवासी विनोद कुमार बाहर मजदूरी करता था। लॉकडाउन के चलते गांव आया था। वह बाजार गया था। कुछ ही समय बाद वह लौट आया और फिर शाम को घर से निकल गया। देर रात उसकी तलाश की गई तो तालाब के किनारे पेड़ से लटकता शव मिला। उसके पास में ही मोबाइल पड़ा, जिसमें उसका एक वीडियो भी था। जिसे उसने जान देने के पहले खुद बनाया था। वायरल वीडियो और परिवारजनों के अनुसार विनोद कुमार ने शनिवार को बाजार से 60 रुपये का तरबूज खरीदा था, लेकिन उसके गांव के एक दूसरा व्यक्ति वही तरबूज 20 रुपये का लेकर गया। रुपयों में अंतर होने पर वह फिर बाजार आया और उसने दुकानदार से अधिक मूल्य लेने का विरोध किया। तो उसने कहा कि जो मर्जी होगी उतने में बेचेगा। जिस पर वह उसका वीडियो बनाने लगा। उसी समय गांव के ही पतेड़ी, सुरेंद्र और सनूप आ गए और तरबूज बेच रहे व्यक्ति का पक्ष लेने लगे। तभी पतेड़ी ने बाजार उसे तमाचा मार दिया।

भरी बाजार में तमाचा मारने से उसकी शर्मिंदगी लगी और स्वाभीमान पर ठेंस भी इसके बाद वह चला आया, लेकिन वीडियो में उसने बताया कि सरकार और अधिकारी अधिक मूल्य पर सामग्री न बेचने का आदेश दे रहे हैं फिर भी मजदूरों को बेची जा रही है। उसने विरोध किया तो उसकी पिटाई कर दी गई। ऐसे लोगों पर सरकार कड़ी कार्रवाई करे और फांसी लगा ली। शनिवार की शाम गांव के बाहर लटक रहे शव के पास मिले मोबाइल में वीडियो से पूरी बात सामने आई।

थानाध्यक्ष संजीव कुमार शर्मा ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला कि विनोद का नशे में विवाद हुआ था। उसी में मारपीट हुई। उन्होंने बताया कि तहरीर के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

 


Author

Moulshree Tripathi

Related News