UP में Cyber Crime ​पर शिकंजा कसने की तैयारी, 15 हजार पुलिसकर्मी होंगे Trained

punjabkesari.in Wednesday, Sep 15, 2021 - 10:01 AM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में साइबर अपराधियों (Cyber ​​criminal) पर नकेल कसने के लिए 15 सितम्बर से 30 सितम्बर तक 15 हजार पुलिसकर्मियों प्रशिक्षण दिया जायेगा। पुलिस प्रवक्ता ने मंगलवार शाम यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (DGP) मुकुल गोयल (Mukul Goyal) ने इस संबंध में सभी जोनल अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस आयुक्त लखनऊ, गौतमबुद्धनगर, वाराणसी, कानपुर नगर, अपर पुलिस महानिदेशक साइबर क्राइम/महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन/यूपी-112, परिक्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षक/पुलिस उप महानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक प्रभारी जिले को साइबर क्राइम के अभियोगो के सफल अनावरण के लिए पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित करने के उद्देश्य से साइबर क्राइम (Cyber ​​Crime) के सम्बन्ध में चरणबद्ध प्रशिक्षण प्रदान करने के निर्देश दिये हैं।

उन्होंने बताया कि उन्होंने साइबर अपराध से पीड़ित व्यक्ति को अपेक्षित सहायता, समुचित मार्गदर्शन प्रदान करने एवं साइबर क्राइम से सम्बन्धित अभियोगों का सफल अनावरण, विवेचनाओं का गुणवत्तापरक निस्तारण के साथ-साथ संसाधनों के समुचित उपयोग आदि के उद्देश्य से पुलिस कर्मियों को साइबर क्राइम के सम्बन्ध में प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत आगरा जोन से की गयी थी। पुलिस महानिदेशक के निर्देशानुसार आधारभूत साइबर प्रशिक्षण कार्यक्रम 15 सितम्बर से प्रारम्भ होकर 30 सितम्बर तक आयोजित किया जायेगा। इस प्रशिक्षण के अनावरण सत्र में सभी जोनल अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस आयुक्त, परिक्षेत्रिय पुलिस महानिरीक्षक/पुलिस उप महानिरीक्षक एवं जिलो के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक सम्मिलित होंगे।        

उन्होंने बताया कि प्रत्येक जिले से एक राजपत्रित अधिकारी नोडल अधिकारी के रूप में प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रत्येक सत्र में प्रतिभाग करेंगे। जूम सेशन के जरिये प्रशिक्षण कार्यक्रम में 15 हजार से अधिक पुलिस कर्मियों द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त किया जायेगा। प्रशिक्षण सत्र में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में थानों पर नियुक्त समस्त कम्प्यूटर आपरेटर, महिला हेल्प डेस्क पर नियुक्त महिला आरक्षी, प्रत्येक थाने के चार पुलिस उप निरीक्षक एवं चार आरक्षी के साथ-साथ रेंज साइबर थानो के समस्त स्टाफ द्वारा प्रतिभाग किया जायेगा। प्रशिक्षण सत्रों के दौरान विभिन्न तिथियों में साइबर क्राइम से सम्बन्धित निम्नलिखित विषयों पर प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static