मंदिर परिसर पहुंचने लगे तराशे गए ''राम नाम'' के पत्थर, निर्माण का एक पड़ाव और हुआ पार

punjabkesari.in Saturday, Oct 10, 2020 - 11:35 AM (IST)

अयोध्याः राम जन्मभूमि निर्माण कार्यशाला से तराशे गए पत्थरों को ले जाने का कार्य शुरू हो गया है। एलएनटी के कर्मचारियों ने पहले तराशे गई शिलाओं को उतारकर नीचे रखा गया। उसके बाद बाकायदा मंत्रोचार के साथ शिला को फूलों और पूजन सामग्री से सजा कर वैदिक ब्राह्मणों ने उसका पूजन किया। उसके बाद पूजित शिला को क्रेन के माध्यम से बड़े ट्रक पर लादा गया। हालांकि पत्थरों को ले जाने का सिलसिला भले ही शुरू हो गया हो, लेकिन आज महज टेस्टिंग की जाएगी कि आने-जाने में कोई व्यवधान तो नहीं है और कितना समय लगता है। उसके बाद अगले 1 सप्ताह बाद कार्यशाला से पत्थरों को ले जाने का विधिवत सिलसिला शुरू हो जाएगा।
PunjabKesari
बता दें कि राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण में दो तल के बजाय 3 तल हो गया है। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की मानें तो अब राम मंदिर निर्माण के लिए 3 टन से अधिक पत्थरों की आवश्यकता पड़ेगी जबकि एक टन पत्थरों को तराशा जा चुका है और इससे राम मंदिर की प्रथम मंजिल का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।
PunjabKesariआगे कुछ पत्थर तराश कर राम जन्मभूमि कार्यशाला पहुंचाए जाएंगे और कुछ पत्थर की शिलाओं को राम जन्मभूमि परिसर पहुंचाया जाएगा राम मंदिर के लिए आगे पत्थरों को तराशने का कार्य राम जन्मभूमि परिसर कार्यशाला में ही किया जाएगा और वहीं से उठाकर राम मंदिर निर्माण कार्य में इस्तेमाल कर लिया जाएगा।
PunjabKesari
राम जन्मभूमि निर्माण कार्यशाला से तराशे गए पत्थर को लेकर जैसे ही ट्रक और वाहन बाहर निकले वैसे ही विश्व हिन्दू परिषद के पदाधिकारियों और ट्रस्ट के सदस्यों ने लड्डू खिलाकर एक दूसरे का मुंह मीठा कराया और उसके बाद पत्थर की शिलाओं को रामजन्मभूमि परिसर की ओर रवाना किया गया। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static