CM योगी आदित्यनाथ ने सड़क सुरक्षा पर की बड़ी बैठक, 15 दिनों तक इस मुहिम को चलाने का दिया निर्देश

punjabkesari.in Sunday, Dec 03, 2023 - 07:16 AM (IST)

Lucknow News: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों को रोकना बड़ी चुनौती है। अधिकांश दुर्घटनाएं तेज रफ्तार में वाहन चलाने के कारण होती हैं। ड्राइवर दक्ष या कुशल न हो, तब भी यह दुर्घटना होती हैं। इस बीच, 15 से 31 दिसंबर तक सड़क सुरक्षा पखवाड़ा आयोजित करने के लिए भी उन्‍होंने दिशा निर्देश दिए। यहां जारी एक सरकारी बयान के अनुसार, मुख्‍यमंत्री योगी ने शनिवार को अपने पांच कालिदास मार्ग स्थित सरकारी आवास पर 50 बस, 38 इंटरसेप्टर वाहन और 12 प्रचार वैन को हरी झंडी दिखाई। उन्होंने 4100 इलेक्ट्रिक वाहन स्वामियों के खाते में अनुदान राशि का ऑनलाइन हस्तांतरण किया और यहां पर परिवहन विभाग और मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के साथ पांच ‘ड्राइविंग ट्रेनिंग एंड टेस्टिंग इंस्टिट्यूट' के ऑटोमेशन और संचालन के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया गया।

CM योगी की अध्यक्षता में संपन्न हुई यूपी राज्य सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक
एक अन्‍य बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शनिवार को उत्तर प्रदेश राज्य सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक संपन्न हुई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सड़क दुर्घटनाओं और दुर्घटनाओं में असामयिक मृत्यु को न्यूनतम करने के लिए ठोस कदम उठाने पर जोर दिया। योगी के निर्देश पर 15 से 31 दिसंबर तक सड़क सुरक्षा पखवाड़ा आयोजित होगा। उन्होंने जिम्मेदारी तय करते हुए कहा कि गृह, परिवहन, पीडब्ल्यूडी, प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा, राजमार्ग प्राधिकरण आदि के बेहतर समन्वय के साथ इस पखवाड़े को सफल बनाना होगा।

ये भी पढ़ें:-

इटावा सफारी पार्क में बब्बर शेर केसरी की मौत, अखिलेश यादव बोले- हो दंडात्मक कारवाई
उत्तर प्रदेश के इटावा सफारी पार्क एवं बब्बर शेर प्रजनन केंद्र में करीब 3 वर्षीय बब्बर शेर केसरी की शनिवार शाम मौत हो गई। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी। प्रभागीय निदेशक (वानिकी) अतुल कान्त शुक्ला ने बताया कि इटावा सफारी पार्क में केसरी शेर की आज शाम मौत हो गई। उन्होंने बताया कि 15 अप्रैल 2020 को पिता बब्बर शेर मनन और मां जेनिफर से जन्मे केसरी बब्बर शेर के पूंछ में पिछले 25 अप्रैल से घाव हो जाने से उसका इलाज सफारी के चिकित्सकों, पशु चिकत्सालय के चिकित्सक, एवं अन्य सफारी संस्थानों के विशेषज्ञों द्वारा किया जा रहा था। शनिवार की शाम सात बजे शेर की मौत हो गई। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Anil Kapoor

Recommended News

Related News

static