भवानीनंदन यति की बेबाक टिप्पणी, बोले- बाबरी मस्जिद के कलंक से बेहतर है संघ का धर्मशाला

3/6/2021 1:54:52 PM

गाजीपुर: उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद स्थित सिद्धपीठ श्री हथियाराम मठ पर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए समर्पण राशि एकत्रीकरण कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों द्वारा सिद्धपीठ महामंडलेश्वर से सवाल किया गया कि देश के कुछ धर्माचार्यों द्वारा अयोध्या में बन रहे श्रीराम जन्मभूमि मंदिर को संघ धर्मशाला की संज्ञा दी जा रही है। जिस पर स्वामी भवानीनंदन यति बेबाक टिप्पणी करते हुए कहाकि अब तक 500 वर्षों से अधिक समय तक बाबरी मस्जिद का कलंक ढो रहा वह जन्मभूमिस्थल यदि संघ धर्मशाला बने तो भी कोई दिक्कत नहीं होगी।

संघ एकमात्र ऐसा संगठन है जो राष्ट्र निर्माण पर धर्म रक्षा के निमित्त कृत संकल्पित और निरंतर कार्य करता रहता है। हालांकि उन्होंने उन तथाकथित धर्माचार्यों की शंकाओं को निर्मूल बताते हुए कहा कि अयोध्या में बनने वाला भव्य श्रीराम मंदिर राष्ट्र गौरव के रूप में स्थापित होगा।

बता दें कि अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की जन्म स्थली पर बनने वाले भव्य श्रीराम मंदिर के लिए सिद्धपीठ हथियाराम मठ के पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी भवानीनंदन यति जी महाराज ने अपने शिष्य समुदाय के सहयोग से आरएसएस प्रांत प्रचारक रमेश जी को एक करोड़ 1लाख 1हजार 101 रुपए का समर्पण राशि सौंपा। महामंडलेश्वर स्वामी भवानीनंदन यति जी के निर्देश पर सिद्धपीठ से जुड़े क्षेत्र के शिष्य श्रद्धालु उपस्थित हुए। जहां उन्होंने आरएसएस काशी प्रांत प्रचारक रमेश जी को उक्त धनराशि भेंट की।


Content Writer

Umakant yadav

Related News